Friday , December 15 2017

बर्तानिया को इन्सानी हुक़ूक़ पर लेकचर ना देने सऊदी अरब की ख़ाहिश

लंदन: सऊदी अरब के सफ़ीर बराए बर्तानिया ने आज बाहमी एहतेराम की ख़िलाफ़वरज़ी पर सख़्त तन्क़ीद करते हुए कहा कि सऊदी अरब किसी से भी लेकचर सुनने के लिए तैयार नहीं है। सऊदी अरब के सफ़ीर का ये तबसरा उस वक़्त मंज़र-ए-आम पर आया जब कि बर्तानिया ने जारिया माह सऊदी अरब के ताज़ीरी निज़ाम पर तन्क़ीद करते हुए कहा था कि सऊदी ओहदेदारों को इन्सानी हुक़ूक़ के बारे में तर्बीयत देने की ज़रूरत है।

सऊदी सफ़ीर मुहम्मद बन निवाप बन अब्दुलअज़ीज़ ने अपने मुल्क की मआशी एहमियत बर्तानिया पर ज़ाहिर करते हुए कहा कि सऊदी तआवुन सयान्ती मामलत में भी काबिल-ए-क़दर है। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि बर्तानिया और सऊदी अरब के ये ताल्लुक़ात जारी रहें लेकिन हम इस बारे में किसी से भी कोई लेकचर सुनने के लिए तैयार नहीं हैं।

बर्तानिया के रोज़नामा दी टैलीग्राफ़ के बमूजब बर्तानिया को चाहिए कि सऊदी अरब के ओहदेदारों को इन्सानी हुक़ूक़ के एहतेराम की तर्बीयत दें। सफ़ीर ने कहा कि हमारे मुशतर्का दिफ़ाई मुफ़ादात आइन्दा भी जारी रखने के लिए ज़रूरी है कि हम मुख़्तलिफ़ किस्म के ख़तरात का सामना करें। सऊदी अरब के लिए ये बात बहुत अहम है कि इसका दीगर तमाम ममालिक एहतेराम करते हो।

TOPPOPULARRECENT