बर्तानिया : ज़ात-पात में इमतियाज़ (भेद-भाव) मना, बिल को मलिका की मंज़ूरी

बर्तानिया : ज़ात-पात में इमतियाज़ (भेद-भाव) मना, बिल को मलिका की मंज़ूरी
लंदन, 27 अप्रैल (पी टी आई) सलतनत मुत्तहदा में आबाद चार लाख दलितों के लिए एक बड़ी कामयाबी में इस बिल को मलिका की तरफ़ से शाही मंज़ूरी हासिल हो गई जो बर्तानिया में ज़ात-पात की असास पर इम्तियाज़ को ममनूअ क़रार देगा।

लंदन, 27 अप्रैल (पी टी आई) सलतनत मुत्तहदा में आबाद चार लाख दलितों के लिए एक बड़ी कामयाबी में इस बिल को मलिका की तरफ़ से शाही मंज़ूरी हासिल हो गई जो बर्तानिया में ज़ात-पात की असास पर इम्तियाज़ को ममनूअ क़रार देगा।

एंटरप्राइज एंड रैगूलेटरी रीफार्म बिल ने इस हफ़्ता पार्लियामेंट में तारीख बनाई जब दारुल अवाम को दारालामरा की तजवीज़ पर इस बिल को क़ुबूल कर लेना पड़ा जिस के तहत ज़ात-पात को क़ानून मुसावात 2010 के हिस्सा के तौर पर नस्ल का एक पहलू क़रार दिया जाएगा।

इस के साथ बर्तानिया जुनूब एशिया के बाहर ज़ात-पात से मुताल्लिक़ इमतियाज़ (भेद-भाव) के ख़िलाफ़ क़ानून बनाने वाला पहला मुल्क बन गया है।

Top Stories