Tuesday , January 23 2018

बर्तानिया में इस्लामिक सेंटर को आग लगा दी गई, इमारत तबाह

लंदन 06 जून: शुमाली लंदन में एक इस्लामिक सेंटर को आग लगा दिया गया। इन्सिदाद-ए-दहशत गर्दी से वाबस्ता ओहदेदारों ने इसे नसली मुहर्रिकात परमबनी पुरतशद्दुद हमला क़रार दिया है और शुबा हैके दाएं बाज़ू ग्रुप ने ये कार्रवाई की।

लंदन 06 जून: शुमाली लंदन में एक इस्लामिक सेंटर को आग लगा दिया गया। इन्सिदाद-ए-दहशत गर्दी से वाबस्ता ओहदेदारों ने इसे नसली मुहर्रिकात परमबनी पुरतशद्दुद हमला क़रार दिया है और शुबा हैके दाएं बाज़ू ग्रुप ने ये कार्रवाई की।

शुमाली लंदन के मुस्वेल्ल हिल में वाक़्ये अलरहमा इस्लामिक सेंटर को आज सुबह की अव्वलीन साअतों में आग लगा दिया गया। मेट्रोपोलिटन पुलिस ने इस शुबा का इज़हार किया कि दानिस्ता तौर पर ये आग लगाई गई।

स्कॉटलैंड यार्ड के इन्सिदाद-ए-दहशत गर्दी ओहदेदार इस हमले की तेहक़ीक़ात कररहे हैं जिसे सोमालीया के कम्यूनिटी सेंटर पर नसली इमतियाज़ पर मबनी पुरतशद्दुद हमला तसव्वुर किया जा रहा है।

ओहदेदारों ने अंग्रेज़ी अलफ़ाज़ ई डी एल की इस मुक़ाम पर मौजूदगी तौसीक़ की जिस का मतलब दाएं बाज़ू की इंग्लिश डीफ़ैंस लेग है। इस्लामिक सेंटर की दो मंज़िला इमारत में जगह जगह इन अलफ़ाज़ पर मुश्तमिल पर्चे पड़े हुए मिले।

इस वाक़िये में आधी इमारत गिर गई। आग लगने की वजह हनूज़ मालूम की जा रही है और इबतिदाई मरहले में शक की बुनियाद पर तहक़ीक़ात शुरू की गई।

स्कॉटलैंड यार्ड के तर्जुमान ने बताया कि इस वाक़िये में कोई भी ज़ख़मी नहीं हुआ। लंदन के मेयर बोरिस जॉनसन ने इस हमले को बुज़दिलाना और नाक़ाबिल माफ़ी हरकत क़रार दिया।

एमरजेंसी सर्विसेस को फ़ौरी तलब करलिया गया था और 6 आतिश फ़िरौ अमला ने तक़रीबन एक घंटे की जद्द-ओ-जहद के बाद आग पर क़ाबू पालिया।

इस वाक़िये की वजह से दो इमारतों को खाली करादिया गया था। लंदन एम्बुलेंस सर्विस के मुताबिक़ एक ख़ातून आतिशज़दगी के इस मुक़ाम पर सदमे से बीमार होगई जिस का ईलाज किया जा रहा है।

मुक़ामी चीफ़ सुपरिन्टेन्डेन्ट ने कहा कि तमाम तबक़ात का तहफ़्फ़ुज़ हमारी अव्वलीन तर्जीह है और उन्होंने ये यक़ीन दहानी कराई कि वाक़िये की तहक़ीक़ात करवाई जाएगी।

उन्होंने कम्यूनिटी लीडर्स से भी बात की और तहक़ीक़ात के बारे में उन्हें वाक़िफ़ किराया। इस इस्लामिक सेंटर के कम्यूनिटी लीडर्स ने ये अंदेशा ज़ाहिर किया कि जुनूब मशरिक़ी लंदन के वोलविच मुक़ाम पर पिछ्ले माह एक बर्तानवी सिपाही को हलाक करने का ये रद्द-ए-अमल था।

ये इस्लामिक सेंटर सोमाली बुरेवंसी वेलफेयर एसोसीएशन की तरफ से चलाया जा रहा था। इन क़ाइदीन ने कहा कि सोमालीया के बाशिंदे जो यहां मुक़ीम हैं, वो ख़ौफ़-ओ-दहश्त का शिकार हैं।

उन्होंने कहा कि जो कुछ हुआ इस पर हम सब को गहिरा सदमा है। उन्होंने इस हमले की सख़्त मज़म्मत की। इस्लामिक सेंटर के एक शख़्स अबूबकर अली ने कहा कि यहां हालात इंतिहाई ख़राब होगए हैं।

एक और ग्रुप फ़ेथ माइटरस जो मुख़ालिफ़ मुस्लिम नफ़रतअंगेज़ मुहिम में पेश पेश है, 22 मई को बर्तानवी सिपाही पर हमले के वाक़िये के बाद से मुसलमानों के ख़िलाफ़ मुहिम में शिद्दत पैदा करचुका था।

हफ़्ते को ई डी एल और दाएं बाज़ू के एक और सयासी ग्रुप ब्रिटिश नेशनल पार्टी के अरकान ने बर्तानवी सिपाही के क़तल के ख़िलाफ़ बतौर-ए-एहतजाज शहर में मार्च भी मुनज़्ज़म किया था।

TOPPOPULARRECENT