Wednesday , December 13 2017

बर्तानिया में दीनी मदारिस का किरदार क़ाबिले सताइश

सज्जादा नशीन दरबार ईदगाह शरीफ़ पीर नक़ीबुर्रहमान ने कहा कि यूरोप की सरज़मीन पर मीलादे मुस्तफ़ा (सल) मनाने से इस्लाम की असल रूह और तसव्वुर पेश हो रहा है।

सज्जादा नशीन दरबार ईदगाह शरीफ़ पीर नक़ीबुर्रहमान ने कहा कि यूरोप की सरज़मीन पर मीलादे मुस्तफ़ा (सल) मनाने से इस्लाम की असल रूह और तसव्वुर पेश हो रहा है।

बर्तानिया में क़ायम दीनी मदारिस का किरदार फ़रोग़ इस्लाम और उमत्ते मुस्लिमा की फ़लाह और बहबूद के लिए काबिले सताइश है। क़ादरिया ट्रस्ट के इल्मी मंसूबों की आबयारी से ही अपनी आने वाली नस्लों को तबाही और बर्बादी से बचाया जा सकता है।

इन ख़्यालात का इज़हार उन्हों ने मारूफ़ इल्मी और मज़हबी इदारे क़ादरिया ट्रस्ट में मुनाक़िदा मीलादे मुस्तफ़ा (सल) कान्फ़्रैंस से ख़िताब करते हुए किया। कान्फ़्रैंस की सदारत मुफ़्ती-ए-आज़म बर्तानिया मुफ़्ती गुल रहमान ने की जबकि कान्फ़्रैंस से चेयरमैन क़ादरिया ट्रस्ट पीर मुहम्मद तैयबुर्रहमान कादरी, चेयरमैन पी सी डी एन राजा इश्तियाक़ ख़ान।

साहिबज़ादा एहसान हसीबुर्रहमान, ग़ुलाम रसूल बख़्श सईदी, हाफ़िज़ सईद, साहिबज़ादा फ़रीक़ चिश्ती, हाजी मुहम्मद रमज़ान, क़ारी मुहम्मद सुल्तान, मुहम्मद ख़लीलुर्रहमान, ख़्वाजा इरशाद रिज़वी समेत दीगर ने भी ख़िताब किया।

TOPPOPULARRECENT