Friday , December 15 2017

बर्लिन में ‘लेनिन’ की वापसी

दीवार बर्लिन गिरने के 25 बरस बाद लेनिन एकबार फिर जर्मन दारुल हुकूमत में वापिस आ गए हैं। हुक्काम ने रूसी इन्क़िलाबी सरब्राह के मुजस्समे का ग्रेनाइट से बना एक सर ज़मीन से निकाला है जिसे एक ट्रक पर लाद कर दूसरी जगह मुंतक़िल किया गया।

मुजस्समे का ये 3.5 टन वज़नी हिस्सा तवील अर्से से बर्लिन के एक किनारे पर मौजूद एक जंगल में दफ़न था और जिसे क़रीब क़रीब भुलाया जा चुका था। ताहम लेनिन के मुजस्समे के इस सर को बर्लिन के एक नए म्यूज़ीयम की ज़ीनत बनाया जाएगा जिसमें ऐसी शख़्सियात के बारे नुमाइश की जाएगी जिन्हों ने जर्मनी की तारीख़ में अहम किरदार अदा किए।

ये नया म्यूज़ीयम बर्लिन के मग़रिब में वाक़े स्पेन्डाओ सिटी में बनाया गया है। स्पेन्डाओ सिटी के ज़िलई कौंसिलर बराए कल्चर गेरहार्ड हांके का मुजस्समे का सर की आमद पर कहना था, वेल्कम बैक लेनिन यानी लेनिन वापसी पर ख़ुश आमदीद।

एक अर्से तक मिट्टी के नीचे दबे रहने के बावजूद इस मुजस्समे को ज़्यादा नुक़्सान नहीं पहुंचा और इस का सिर्फ बायां कान ग़ायब है।

TOPPOPULARRECENT