बर्क़ी कटौती से अवाम में नाराज़गी की लहर

बर्क़ी कटौती से अवाम में नाराज़गी की लहर
जुमा की शाम 6 बजे से रात 10 बजे तक सारा शहर महबूबनगर तारीकी में ग़र्क़ होगया। सुबह 8 ता 10 और दोपहर 2 ता 4 बजे बर्क़ी कटौती पहले से जारी है। इस तरह जुमला 8 घंटे बर्क़ी सरबराही मस्दूद रही।

जुमा की शाम 6 बजे से रात 10 बजे तक सारा शहर महबूबनगर तारीकी में ग़र्क़ होगया। सुबह 8 ता 10 और दोपहर 2 ता 4 बजे बर्क़ी कटौती पहले से जारी है। इस तरह जुमला 8 घंटे बर्क़ी सरबराही मस्दूद रही।

जुमा की शाम मुस्तक़र के अलावा दुसरे कई मुक़ामात पर भी बर्क़ी सरबराही मस्दूद रही जिस का असर रास्त अवामी ज़िंदगीयों पर पड़ा। बर्क़ी की अदम सरबराही से पानी की सरबराही के लिए ख़ातिरख़वाह पंपिंग भी नहीं हो पा रही है जिस की वजह से बलदिया पानी सही अंदाज़ में सरबराह नहीं कर पा रही है। ट्रांस्को ज़राए के मुताबिक़ ज़िला को 14.5 मिलियन यूनिट बर्क़ी दरकार है जबकि 9 मिलियन यूनिट ही सरबराह की जा रही है।

Top Stories