Friday , December 15 2017

बलदिया हैदराबाद का 4,599 करोड़ का बजट

मयूर ग्रेटर हैदराबाद मुंसिपल कारपोरेशन मुहम्मद माजिद हुसैन ने कौंसिल हाल में बलदिया के जनरल बॉडी मीटिंग में माली साल 2014-15 के लिए मुहासिल में इज़ाफ़ा से पाक 4,599 करोड़ रुपये का ख़ुसूसी मुवाज़ना पेश किया जिसे मंज़ूर करलिया गया।

मयूर ग्रेटर हैदराबाद मुंसिपल कारपोरेशन मुहम्मद माजिद हुसैन ने कौंसिल हाल में बलदिया के जनरल बॉडी मीटिंग में माली साल 2014-15 के लिए मुहासिल में इज़ाफ़ा से पाक 4,599 करोड़ रुपये का ख़ुसूसी मुवाज़ना पेश किया जिसे मंज़ूर करलिया गया।

कांग्रेस और मजलिस ने मुवाज़ना की सताइश की जबकि तेलुगु देशम पार्टी ने मुवाज़ना को माक़ूलीयत पसंद बनाने और मुख़तस रक़ूमात के इस्तेमाल पर ज़ोर दिया।

तुख़मीनी मुवाज़ना में इंसिदाद ग़ुर्बत के लिए मजमूई गुंजाइश 943.59 करोड़ रुपये रखी गई है। जी एच्च एम सी ने आइन्दा साल के लिए 1095.04 करोड़ रुपये का प्रॉपर्टी टैक्स वसूल करने का निशाना मुक़र्रर किया है।

जी एच्च एम सी को जारीया साल सदाक़तनामा पैदाइश-ओ-ममात की इजराई से 1.20 करोड़ रुपये की आमदनी हुई और आइन्दा माली साल के दौरान 1.5 करोड़ रुपये की आमदनी का तख़मीना लगाया गया है जबकि गैर मजाज़ तामीरात पर जुर्माने से 2 करोड़ रुपये वसूल हुए और आइन्दा बरस के लिए 2.2 करोड़ रुपये की वसूली का निशाना मुक़र्रर किया गया है।

जी उच्च एम सी ने स्टरीट लाइट्स के बर्क़ी चार्जस पर 160 करोड़ रुपये की अदाई का तख़मीना लगाया है। शहरी इदारे ने मसालख़ ख़ानों की जदीद कारी के लिए 60 लाख रुपये, गरबा-ए-के लिए इमकना यूनिट्स की तामीर के लिए 273.47 करोड़ रुपये, क़ब्रिस्तानों और श्मशान घाट के लिए 12 करोड़ रुपये, बरजिस, रोड ओवर बरजिस, रोड अंडर बरजिस, किलो र्ट्स और फ़्लाई ओवर्स की तामीर के लिए 65 करोड़ रुपये, फ़्लाई ओवर्स की तामीर के लिए 80 लाख रुपये, सब वेज़ और फ़ुट ओवर बरजिस के लिए 5.05 करोड़ रुपयेऎ, बड़ी सड़कों के फ़रोग़ के लिए 136 करोड़ रुपये और छोटी सड़कों के लिए 114 करोड़ रुपये मुख़तस किए गए हैं।

साबिक़ मयूर बंडा कारतीका चंद्रा रेड्डी ने मुवाज़ना की सताइश करते हुए तेलंगाना रियासत की तशकील पर सदर कांग्रेस सोनिया गांधी से इज़हार-ए-तशक्कुर करते हुए क़रारदाद मंज़ूर करने का मुतालिबा किया।

मीटिंग के इख़तताम पर कांग्रेस के अरकान ने जय तेलंगाना के नारे लगाए और मीटिंग के बाहर मिठाई तक़सीम की। तेलुगु देशम के फ़्लोर लीडर ने मुवाज़ना पर बेहस में हिस्सा लेते हुए बहुत सी तजावीज़ पेश की और पिछ्ले चार बरसों में मुख़तस रक़ूमात का इस्ततेमाल ना करने पर तन्क़ीद की और कहा कि सिर्फ़ 40% रक़ूमात ही इस्तेमाल की जा सकीं।

TOPPOPULARRECENT