बशारुल असद की सुबकदोशी की मुख़ालिफ़त की रूसी तरदीद

बशारुल असद की सुबकदोशी की मुख़ालिफ़त की रूसी तरदीद

रूस ने कहा है कि वो शाम के सदर बशारुल असद की सुबकदोशी के ख़िलाफ़ नहीं। हफ़्ता को सहाफ़ीयों से गुफ़्तगु करते हुए वज़ीर-ए-ख़ारजा रूस सुरजी लारोफ़ ने कहा कि रूस शाम के सदर बशारुल असद के हटाए जाने की मुख़ालिफ़त नहीं करेगा अगर ये शामी अवाम की उमंगों के मुताबिक़ और मुज़ाकरात(बात चीत) के नतीजे में हो ना कि बैरूनी ममालिक की जानिब से आइद किया गया हो।

रूसी वज़ीर-ए-ख़ारजा का ब्यान एक ऐसे वक़्त में आया है जब उन के नायब ने अमरीकी नुमाइंदा ख़ुसूसी फ्रेड हूफ से गुज़श्ता रोज़ मुलाक़ात की जिस में शाम में इक़तिदार की मुंतक़ली के बारे में तबादला-ए-ख़्याल किया गया था।

Top Stories