Tuesday , June 19 2018

बशारुल असद की सुबकदोशी की मुख़ालिफ़त की रूसी तरदीद

रूस ने कहा है कि वो शाम के सदर बशारुल असद की सुबकदोशी के ख़िलाफ़ नहीं। हफ़्ता को सहाफ़ीयों से गुफ़्तगु करते हुए वज़ीर-ए-ख़ारजा रूस सुरजी लारोफ़ ने कहा कि रूस शाम के सदर बशारुल असद के हटाए जाने की मुख़ालिफ़त नहीं करेगा अगर ये शामी अवाम की उमंगों के मुताबिक़ और मुज़ाकरात(बात चीत) के नतीजे में हो ना कि बैरूनी ममालिक की जानिब से आइद किया गया हो।

रूसी वज़ीर-ए-ख़ारजा का ब्यान एक ऐसे वक़्त में आया है जब उन के नायब ने अमरीकी नुमाइंदा ख़ुसूसी फ्रेड हूफ से गुज़श्ता रोज़ मुलाक़ात की जिस में शाम में इक़तिदार की मुंतक़ली के बारे में तबादला-ए-ख़्याल किया गया था।

TOPPOPULARRECENT