बसपा के साथ चुनाव लड़ना जेडीएस के लिए रहा फायदेमंद, दलित-मुस्लिम वोट मिला

बसपा के साथ चुनाव लड़ना जेडीएस के लिए रहा फायदेमंद, दलित-मुस्लिम वोट मिला
Click for full image

हैदराबाद : कर्नाटक में कांग्रेस के वोट बैंक में सेंध लगाकर जेडीएस लगभग पिछले चुनाव जैसी सीटें हासिल करने में कामयाब रही है। जेडीएस के लिए राज्य में बसपा के साथ चुनाव लड़ना सांकेतिक फायदा दे गया। इस गठजोड़ के सहारे दलित और मुस्लिम दोनों समुदायों का वोट एकमुश्त कांग्रेस की ओर जाने से रोक दिया।

खेतिहर माने जाने वाले वोक्कालिगा समुदाय के नेताओं डीके शिवकुमार और एसएम कृष्णा को सिद्धरमैया द्वारा दरकिनार करने का सियासी संदेश भी जेडीएस के पक्ष में गया। नाराज वोक्कालिगा समुदाय के लोगों ने पूरी तरह से देवगौड़ा की पार्टी का साथ दिया। बची खुची कसर मायावती के साथ गठबंधन करके जेडीएस ने पूरी कर ली। इससे दलित बड़े पैमाने पर जेडीएस से जुड़ा। पार्टी दक्षिण कर्नाटक में अपना आधार बनाए रखने में सफल रही।

Top Stories