Tuesday , June 19 2018

बहू और आशिक को दी खौफनाक सजा

बाराबंकी, 9 जुलाई: उत्तर प्रदेश के बाराबंकी के फतेहपुर में ग्राम असोहना के प्रधान ने इज्जत की खातिर इतवार की रात घर में ही बेटे और रिश्तेदारों के साथ मिलकर अपनी बहू व उसके आशिक को काट डाला।

बाराबंकी, 9 जुलाई: उत्तर प्रदेश के बाराबंकी के फतेहपुर में ग्राम असोहना के प्रधान ने इज्जत की खातिर इतवार की रात घर में ही बेटे और रिश्तेदारों के साथ मिलकर अपनी बहू व उसके आशिक को काट डाला।

पीर की सुबह पहुंची पुलिस ने घर का ताला तुड़वाया। अंदर का नजारा देखकर लोगों के रोंगटे खड़े हो गए। चारों ओर खून पड़ा था और बहू की लाश आंगन में और आशिक की लाश छत पर पड़ी थी।

मारे गए शख्स की बीवी की नामजद तहरीर पर पुलिस ने चार लोगों पर कत्ल की रिपोर्ट दर्ज की है।

पुलिस ने एक मुल्ज़िम को हिरासत में ले लिया है। वारदात के वक्त घर में रहे मक्तूला के बेटे ने पुलिस को बताया कि उसकी मां का कत्ल उसके बाबा और चाचा ने की है।

वारदात के वक्त मक्तूला (अनीता) का नौ साल का बेटा अतुल घर में ही था। दोनों का कत्ल करने के बाद मासूम को प्रधान अपने घर में छोड़कर फरार हो गया। मक्तूला अनीता के शौहर नीरज ने चार साल पहले फांसी लगाकर जान दे दी थी।

कत्ल करने से पहले प्रधान ने अनीता के घर के बाहर ताला लगा दिया था जिससे कोई भाग न सके और गैलरी के रास्ते जाकर वारदात को अंजाम दिया। उधर अनीता के घर में रात में शोर को सुनकर शिव कुमार की बीवी सीतादेवी ने पुलिस को 100 नंबर पर इत्तेला दी थी लेकिन पुलिस वहां रात में नहीं पहुंची।

इस पर सीता ने सुबह फिर पुलिस को इत्तेला देकर शौहर के कत्ल किए जाने की आशंका जताई। पीर की सुबह दस बजे पुलिस असोहना गांव पहुंची। घर के बाहर दरवाजे में लगे ताले को तोड़ कर पुलिस अंदर पहुंची तो नजारा देख कर सभी दंग रह गए। अनीता की लाश आंगन में पड़ी थी जबकि शिवकुमार की लाश खून से लथपथ छत पर मिली।

TOPPOPULARRECENT