बांग्लादेश में रोहिंग्या शरणार्थियों के लिए अमेरिका भारत के साथ मिलकर करेगा काम!

बांग्लादेश में रोहिंग्या शरणार्थियों के लिए अमेरिका भारत के साथ मिलकर करेगा काम!

बांग्लादेश में रोहिंग्या शरणार्थियों की जरूरतों को पूरा करने के लिए अमेरिका अब भारत के साथ काम करना चाहता है। अमरीका के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि रोहिंग्या के मुद्दे पर ट्रम्प प्रशासन भारत के साथ काम करना चाहता है। साथ ही वह म्यांमार पर उनकी सुरक्षित और स्वैच्छिक वापसी के लिए दबाव बनाना चाहता है।

गौरतलब है कि पिछले साल (2017) अगस्त में सुरक्षा बलों की कार्रवाई के कारण करीब सात लाख रोहिंग्या मुसलमान म्यामांर के उत्तरी राखाइन प्रांत से बांग्लादेश फरार हो गए थे।

बांग्लादेश और म्यामांर पिछले साल नवम्बर में राखाइन प्रांत में रोहिंग्या शरणार्थियों की स्वैच्छिक वापसी के लिए सहमत हो गए थे, लेकिन यह प्रक्रिया अभी तक शुरू नहीं हुई है।

अमरीकी प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी ने नाम उजागर न करने की शर्त पर कहा कि अमरीका की भारत के साथ ज्यादा करीबी से काम करने की इच्छा है और खुद भारत भी इस समस्या का समाधान चाहता है।

Top Stories