Thursday , December 14 2017

बाग़ी और एहसान नाशिनास अफ़राद से कांग्रेस को ख़तरा नहीं

कड़पा, १० जनवरी( सियासत डिस्ट्रिक्ट न्यूज़) रियास्ती वज़ीर-ए-सेहत डी ईल रवीनदरा रेड्डी ने यहां मुनाक़िदा इजलास से ख़िताब करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी अवाम की जमात है जो ग़रीब अवाम की ताईद से चलती है । पार्टी में क़ाइदीन आते जाते ही रहत

कड़पा, १० जनवरी( सियासत डिस्ट्रिक्ट न्यूज़) रियास्ती वज़ीर-ए-सेहत डी ईल रवीनदरा रेड्डी ने यहां मुनाक़िदा इजलास से ख़िताब करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी अवाम की जमात है जो ग़रीब अवाम की ताईद से चलती है । पार्टी में क़ाइदीन आते जाते ही रहते हैं किसी के जाने से पार्टी के इस्तिहकाम पर कोई ख़ास असर नहीं पड़ने वाला ।

ताहम पार्टी से इस्तिफ़ादा कर के पार्टी की पीठ में छुरा घोंपने वालों को अवाम कभी माफ़ नहीं करेगी । पार्टी मुख़ालिफ़ीन को याद रखना चाहीए कि वो सिर्फ़ कांग्रेस पार्टी की वजह से ही उन की शनाख़्त बनी है । मिस्टर रवीनदरा रेड्डी और वज़ीर-ए-क़लीयती बहबूद अहमद उल्लाह कड़पा के शेवा लिंगम फ़ैक्ट्री के पास मुनाक़िदा इजलास से ख़िताब कररहे थे जो 2साबिक़ कारपोरेटर्स वाई एस आर कांग्रेस क़ाइदीन हुसैन सरदारी और नाना सतीश की कांग्रेस पार्टी में शमूलीयत के सिलसिला में मुनाक़िद किया गया था । इस मौक़ा पर दोनों कारपोरेटर्स के हामीयों की बड़ी तादाद कांग्रेस पार्टी में शामिल होगई । मिस्टर डाक्टर डी ईल रवीनदरा रेड्डी ने कहाकि कांग्रेस पार्टी ग़रीब अफ़राद की पार्टी है ।

ग़रीब और पसमांदा अफ़राद की बहबूद ही पार्टी का नसब उल-ऐन है । बाअज़ औक़ात पार्टी के अफ़राद ही पार्टी के ख़िलाफ़ सफ़ आरा होते हैं । ये कांग्रेस पार्टी की तारीख़ में ऐसी कई मिसालें मौजूद हैं । ऐसे बाग़ी अफ़राद से कांग्रेस पार्टी का कुछ बिगड़ने वाला नहीं है । डाक्टर डी ईल रवीनदरा रेड्डी ने साबिक़ कारपोरेटर्स जिन का ताल्लुक़ वाई ऐस आर कांग्रेस पार्टी से रहा आज कांग्रेस पार्टी में शामिल होने पर अपनी मुसर्रत का इज़हार करते हुए कहा कि कड़पा में कांग्रेस पार्टी से दूर हुए क़ाइदीन-ओ-कारकुनों की दुबारा पार्टी में शमूलीयत से पार्टी मौक़िफ़ में ज़बरदस्त तबदीली आ रही है ।

इस मौक़ा पर रियास्ती वज़ीर-ए-क़लीयती बहबूद अहमद उल्लाह ने कहा कि वो और उन के वालिद रहमत उल्लाह साबिक़ रुकन पार्लीमान इबतदा-ए-ही से कांग्रेस पार्टी से वाबस्ता रहे हैं । पार्टी में हरवक़त साथ रहना चाहीए पार्टी इक़तिदार में रहे या ना रहे । हम ने अवाम की ख़िदमत की है इस का रिकार्ड रखते हैं । उन्हों ने पार्टी में हुसैन सरदारी और नाना सतीश की शमूलीयत को फ़आल नेक क़रार देते हुए पार्टी के इस्तिहकाम के लिए काम करने और अपनी तरफ़ से भरपूर तआवुन का तीक़न दिया ।

TOPPOPULARRECENT