Saturday , December 16 2017

बाजार में आ रहे 500 के दो तरह के नोट, विशेषज्ञों ने जताई जालसाजी की चिंता

PC: (Twitter/Arvind Kejriwal Retweet)

नई दिल्ली: नोटबंदी के बाद अभी 500 रुपए के नए नोट बैंकों और एटीएम में आए अभी २ हफ्ते हुए ही हैं कि बाजार में इस नोट के दो रूप देखने को मिल रहे हैं।
टाइम्स ऑफ़ इंडिया मुताबिक 500 के इन दोनों नोटों में कुछ छोटे-छोटे फर्क हैं जिससे लोगों के दिमाग में उलझने पैदा हो सकती हैं और उन्हें परेशानी भी हो सकती है। नकली नोटों के कारोबारी इस का फायदा उठा सकते हैं और लोगों को भी समझने ने दिक्कत होगी की कौन सा नोट असली है और कौन सा नकली।

इस मामले में विशेषज्ञों का कहना है कि केंद्र सरकार ने तो देश में पुरानी करेंसी को कालेधन और देश में चल रहे नकली नोटों पर रोक लगाने के मकसद की की है। लेकिन अगर ऐसे मामले सामने आ रहे हैं तो इससे जालसाजी को भी बढ़ावा मिलेगा।
500 में दिखाई दे रहे इस अंतर पर दिल्ली में रहने वाले एक शख्स का कहना है कि “एक नोट में गांधी जी की परछाई ज्यादा दिखाई है, इसके अलावा सीरियल नंबर, अशोक स्तंभ जैसी चीजों के साइज में भी अंतर है।” वहीँ गुरुग्राम में रहने वाले रेहन शाह ने दोनों नोट में किनारों का साइज भी अलग-अलग बताया।

इसके अलावा वहीं मुंबई में रहने वाले एक शख्स ने बताया कि उसने 2000 रुपए के नोट के छुट्टे कराए और उन्हें 500 रुपए के दो नोट मिले लेकिन इन दोनों नोटों के कलर में फर्क था।

आरबीआई प्रवक्ता अल्पना किल्लावाला का कहना है कि यह प्रिटिंग में की गई गलती हो सकती है। क्योंकि इस वक़्त काम का काफी दबाव है और लोगों की आपूर्ति के लिए बहुत तेजी से हो रहा है। लोग इन नोटों को लेकर किसी कसमकश में न रहे अगर कोई दिक्कत होती है तो वे नोट आरबीआई को वापस कर सकते हैं।”

TOPPOPULARRECENT