Thursday , December 14 2017

बाबरी मस्जिद का पहला पत्थर गिरते ही पूजा में बैठ गए थे नरसिंहा राव

साबिक मर्कज़ी वज़ीर (पूर्व केंद्रीय मंत्री) अर्जुन सिंह के बाद अब सीनीयर सहाफी (पत्रकार) कुलदीप नैयर ने साबिक वज़ीर ए आज़म नर सिंहा राव पर बाबरी मस्जिद के शहादत में मिली भगत का इल्ज़ाम लगाया है।

साबिक मर्कज़ी वज़ीर (पूर्व केंद्रीय मंत्री) अर्जुन सिंह के बाद अब सीनीयर सहाफी (पत्रकार) कुलदीप नैयर ने साबिक वज़ीर ए आज़म नर सिंहा राव पर बाबरी मस्जिद के शहादत में मिली भगत का इल्ज़ाम लगाया है।

कुलदीप नैयर ने जल्द ही जारी होने वाली अपनी आप बीती (Autobiography/आत्मकथा )’बियोंड द लाइन्स’ में लिखा है ‌कि ज्यों ही कार सेवकों ने बाबरी मसजिद को गिराना शुरू किया, राव पूजा में बैठ गए।

नैयर ने लिखा है, ‘राव उस पूजा से तब उठे जब कार सेवकों ने मस्जिद का आखिरी पत्‍थर गिरा दिया। बाद में मुझे (कुलदीप नैयर को) मधु लिमये ने बताया कि पूजा के दौरान राव के साथी ने उनके कान में आकर फुसफु‌साया कि मस्जिद गिरा दी गई है, राव फौरन पूजा खत्म कर उठ गए।

साबिक वज़ीर ए आज़म के बेटे पी वी रंगा राव ने कुलदीप नैयर के इल्जामातो को बिल्कुल बेबुनियाद बताते हुए इनका खंडन किया है। राव ने कहा कि यह इल्ज़ामात बेबुनियाद है। मेरे वालिद मुसलमानो से बेहत प्यार करते थे, इसलिए वे ऐसा नहीं कर सकते। राव ने कहा कि उनके वालिद (पिता) पर यह इल्ज़ाम किसी खास मकसद के तहत लगाए जा रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT