Friday , November 24 2017
Home / Hyderabad News / बाबरी मस्जिद की शहादत , सालाना याद पर हैदराबाद बंद और योम-ए-सियाह पुरअमन

बाबरी मस्जिद की शहादत , सालाना याद पर हैदराबाद बंद और योम-ए-सियाह पुरअमन

एवधया में बाबरी मस्जिद के इन्हिदाम के सानिहा की 22 वीं सालाना याद के मौके पर शहरे हैदराबाद में चंद मुस्लिम तंज़ीमों की तरफ़ से मनाया गया योम-ए-सियाह और बंद मुकम्मिल तौर पर पुरअमन गुज़र गया।

एवधया में बाबरी मस्जिद के इन्हिदाम के सानिहा की 22 वीं सालाना याद के मौके पर शहरे हैदराबाद में चंद मुस्लिम तंज़ीमों की तरफ़ से मनाया गया योम-ए-सियाह और बंद मुकम्मिल तौर पर पुरअमन गुज़र गया।

इस मौके पर हैदराबाद में दहश्तगर्द हमलों के बारे में मर्कज़ी इदारा इंटेलिजेंस ब्यूरो (आई बी) की तरफ से ख़बरदार किए जाने के पेशे नज़र पुलिस और नियम फ़ौजी फोर्सेस ने सख़्त तरीन सेक्युरीटी इक़दामात किए थे जिन की माज़ी में कोई नज़र नहीं मिलती।

ताहम सेक्युरीटी ख़तरात टल जाने के बाद पुलिस ने राहत की सांस ली। पुराने शहर और दुस्दरे मुस्लिम अक्सरीयती इलाक़ों में अक्सर
दुकानात , तिजारती-ओ-तालीमीइदाराजात बंद रहे सड़कों पर ट्रैफ़िक की आमद-ओ-रफ़त नहीं देखी गई जिस के नतीजे में सड़कें सुनसान नज़र आरही थीं।

चारमीनार के अतराफ़ आम तौर पर देखी जाने वाली ज़बरदस्त तिजारती सरगर्मीयां नहीं देखी गईं। पुराने शहर का सदीयों क़दीम मार्किट अमलन सुनसान नज़र आया। बिशमोल एमबी टी बाज़ मुस्लिम जमातों की तरफ़ से रज़ाकाराना बंद और योम-ए-सियाह मनाने की अपील पर अवाम का बेहतर रद्द-ए-अमल देखा गया। इलाके की तक़रीबन तमाम दुकानात बंद रहें। जिस से आम ज़िंदगी भी ठप रही।

बंद और योम-ए-सियाह के पेशे नज़र सिटी पुलिस की तरफ़ से बेहतर् सेक्युरीटी इंतेज़ामात किए गए थे। तारीख़ी मक्का मस्जिद के क़रीब ज़ाइद पुलिस ताय्युनात की गई थी। पुराने शहर में अमन-ओ-अमान की बरक़रारी को यक़ीनी बनाने के लिए पिछ्ले रोज़ ही पुलिस पैट्रोलिंग में इज़ाफ़ा कर दिया गया था। तारीख़ी मक्का मस्जिद में नमाज़ ज़ुहर के बाद शहर की सूरत-ए-हाल को मल्हूज़ रखते हुए पुलिस ने ना सिर्फ़ इतमीनान की सांस ली बल्कि सख़्ती में कमी भी की गई।

TOPPOPULARRECENT