बाबरी मस्जिद को शहीद करने वालों के ख़िलाफ़ कार्रवाई क्यों नहीं ?

बाबरी मस्जिद को शहीद करने वालों के ख़िलाफ़ कार्रवाई क्यों नहीं ?
मुंबई, 12 फरवरी: (पी टी आई ) समाजवादी पार्टी लीडर अबू आसिम आज़मी ने 1992 में अयोध्या में बाबरी मस्जिद की शहादत में मुलव्वस रहने वालों के ख़िलाफ़ कार्रवाई का मुतालिबा किया ।

मुंबई, 12 फरवरी: (पी टी आई ) समाजवादी पार्टी लीडर अबू आसिम आज़मी ने 1992 में अयोध्या में बाबरी मस्जिद की शहादत में मुलव्वस रहने वालों के ख़िलाफ़ कार्रवाई का मुतालिबा किया ।

उन्होंने ज़राए इबलाग़ के नुमाइंदों से बात चीत करते हुए कहा कि जो लोग बाबरी मस्जिद की शहादत में मुलव्वस थे, आख़िर उनके ख़िलाफ़ कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही है ? अब यही लोग खुले आम इसी मुक़ाम पर राम मंदिर तामीर करने की बात कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि तमिलनाडु असेंबली में राजीव गांधी को हलाक करने वालों की ताईद में क़रारदाद मंज़ूर की गई थी । इंदिरा गांधी को हलाक करने वालों की भी ताईद करते हुए अकाली दल ने इसी तरह क़रारदाद मंज़ूर कराई। उन्होंने कहा कि दहशतगर्दों की इस तरह ताईद कैसे की जा सकती है?

अगर उमर अबदुल्लाह या कोई और मुसलमान अफ़ज़ल गुरु के बारे में इसी तरह का लब-ओ-लहजा इख़तियार करे तो उसे सबसे बड़ा दहशतगर्द तसव्वुर किया जाता है । अब्बू आसिम आज़मी ने ये पूछा कि आख़िर वो इस बात पर कैसे यक़ीन करें कि इस मुक्क में सबके लिए क़ानून यकसाँ ( एक सा) है ?

उन्हों ने कहा कि अफ़ज़ल गुरु के अरकान ख़ानदान को फांसी से क़बल वाक़िफ़ कराया जाना चाहीए था। अब तक पुलिस इंसपेक्टर सुजाता पाटिल के ख़िलाफ़ कोई कार्रवाई नहीं की गई जिसने मुसलमानों के ख़िलाफ़ क़ाबिल ऐतराज़ फ़िक़रे कसे थे।

सुजाता पाटिल ने मुंबई पुलिस के जरीदा में एक नज़म तहरीर की जिसमें इसने गुज़श्ता साल के आज़ाद मैदान एहतिजाजियों को साँप और ग़द्दार कहा। इसने ये भी लिखा कि इन दहशतगर्दों के हाथ काट दीए जाने चाहीए ।

वीएचपी लीडर प्रवीण तोगाड़िया की नफ़रत अंगेज़ तक़रीर के बारे में उन्होंने कहा कि अकबर ओवैसी और तोगाड़िया दोनों नफ़रत फैला रहे हैं। अगर अकबर ओवैसी को जेल की सलाखों के पीछे भेजा जाता है तो तोगाड़िया को क्यों नहीं?

Top Stories