Saturday , January 20 2018

बाबरी मस्जिद पर सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर हमें बात करनी चाहिए- मौलाना खालिद राशिद

लखनऊ। अयोध्या राम मंदिर का विवाद कोर्ट के बाहर सुलझाने पर फिर बहस छिड़ गयी है। सुप्रीम कोर्ट ने इसे भावनात्मक मुद्दा बताते हुए कोर्ट से इतर सुलझाने की सलाह दी है। इस सलाह पर हिंदू और मुस्लिम धर्म गुरू भी सहमति प्रकट कर रहे हैं।

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने भी इस पर सहमति जताते हुए कहा, हम कोर्ट से बाहर समझौते के लिए तैयार हैं। मौलाना खालिद राशिद ने कहा, सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के तहत हमें इस पर बात करनी चाहिए।

दूसरी तरफ संतों ने भी कोर्ट की इस टिप्पणी पर खुशी जतायी है। उन्होंने कहा, हम बातचीत के लिए तैयार हैं। संतों ने माना कि यह कोशिश पहली बार नहीं हो रही।

इससे पहले भी इस पर बातचीत हुई है। धर्म गुरूओं में बहस जगह को लेकर अटक रही है। हालांकि इस बातचीत के बाद भी कोई रास्ता नहीं निकलता है तो अंत में सुप्रीम कोर्ट अपना फैसला सुनायेगी।

TOPPOPULARRECENT