बाबरी मस्जिद मसले पर आम मुबाहिस के लिए मुलायम सिंह को चैलेंज

बाबरी मस्जिद मसले पर आम मुबाहिस के लिए मुलायम सिंह को चैलेंज
फ़िर्कावाराना फ़सादाद भड़काने बी जे पी को खुली छूट दी गई, बीनी प्रसाद का इल्ज़ाम

फ़िर्कावाराना फ़सादाद भड़काने बी जे पी को खुली छूट दी गई, बीनी प्रसाद का इल्ज़ाम
लखनऊ 7 जुलाई (पी टी आई) कांग्रेस की जानिब से सरज़निश किए जाने के बावजूद मर्कज़ी वज़ीर स्टील बीनी प्रसाद वर्मा ने आज अपने दोस्त से दुश्मन बनने वाले मुलायम सिंह यादव पर अपनी तन्क़ीदों में शिद्दत पैदा करदी और अब इल्ज़ाम आइद किया कि वो मुल्क में फ़िर्कावाराना फ़सादाद भड़काने में बी जे पी का साथ देते आरहे हैं।

उन्होंने समाजवादी पार्टी लीडर को बाबरी मस्जिद मसले पर बरसर-ए-आम मुबाहिस का चैलेंज भी किया। उन्होंने इल्ज़ाम आइद किया कि बी जे पी रियासत यूपी में फ़िर्कावाराना फ़िज़ा को मुकद्दर कररही है। राम मंदिर मसले पर कशीदगी पैदा करते हुए हालात बिगाड़ना चाहती है ताकि ज़ाफ़रानी पार्टी और समाजवादी पार्टी को फ़ायदा मिल सके।

उन्होंने सवाल किया कि आया उत्तरप्रदेश में समाजवादी पार्टी की हुकूमत ने मुश्तबा दहश्तगर्द ख़ालिद मुजाहिद की पुलिस तहवील में मौत की क़ौमी तहक़ीक़ाती एजैंसी के ज़रीये तहक़ीक़ात कराने की सिफ़ारिश क्यों नहीं की। ख़ालिद मुजाहिद को सिलसिला वार बम धमाकों में मुल्ज़िम बनाया गया था। ये धमाके नवंबर 2007 में लखनऊ और फ़ैज़ाबाद अदालतों में हुए थे।

उन्होंने कहा कि इन हमलों के पीछे हिंदू तंज़ीमों का हाथ था। बीनी प्रसाद वर्मा ने यहां अख़बारी नुमाइंदों से कहा कि मुलायम सिंह को एक प्लेटफार्म पर जमा होकर बाबरी मस्जिद मसले पर मेरे ख़िलाफ़ दो बद्दू बेहस करें में उन को जवाब दूंगा और उन्हें मेरे सवालात का जवाब देना होगा।

बीनी प्रसाद ने कहा कि मुलायम सिंह ने कहा था कि बाबरी मस्जिद मसले पर उनके ख़िलाफ़ इल्ज़ामात की सी बी आई तहक़ीक़ात करवानी चाहीए। लेकिन अगर समाजवादी पार्टी इस ख़सूस में संजीदा है तो उत्तरप्रदेश में उसकी हुकूमत को मर्कज़ से इस मसले पर सिफ़ारिश करनी चाहीए।

सी बी आई या कोई तहक़ीक़ाती एजैंसी सिर्फ़ उस वक़्त तहक़ीक़ात करती है जब अदालत अहकाम दे या रियास्ती हुकूमत सिफ़ारिश करे। रियास्ती हुकूमत को तहक़ीक़ात की सिफ़ारिश करनी चाहीए और में ये तमाम कार्रवाई करने की कोशिश करूंगा।

Top Stories