बाबरी मस्जिद राम- जन्मभूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट हिन्दू भावनाओं पर फैसला नहीं दे सकता- ओवैसी

बाबरी मस्जिद राम- जन्मभूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट हिन्दू भावनाओं पर फैसला नहीं दे सकता- ओवैसी
Click for full image

अयोध्या मसले में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पर हमला बोलते हुए एम आई एम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने शुक्रवार को कहा कि शीर्ष अदालत भावनाओं के आधार पर फैसला नहीं ले सकती।

ओवैसी ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के महासचिव भैयाजी जोशी की टिप्पणियों का हवाला दिया, जिसमें उन्होंने सुप्रीम कोर्ट से आग्रह किया था कि अयोध्या मुद्दे पर ‘‘हिंदू समुदाय की भावनाओं’’ पर भी विचार करना चाहिए ।

ओवैसी ने कहा कि ‘हिंदू भावना’ के आधार पर उच्चतम न्यायालय फैसला नहीं कर सकता है ।’’ ओवैसी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘वह (जोशी) अब भी भारत के संविधान को नकार रहे हैं । आस्था, भावना इत्यादि कुछ भी प्रासंगिक नहीं है और केवल इंसाफ प्रासंगिक है।’’

दूसरी ओर संघ ने शुक्रवार को कहा कि शीर्ष अदालत के यह कहने से कि अयोध्या मसला उनकी प्राथमिकता में नहीं है, हिंदू ‘‘अपमानित’’ महसूस कर रहे हैं और जोर देकर कहा कि किसी विकल्प के नहीं बचने पर अध्यादेश की जरूरत पड़ेगी।’’

महाराष्ट्र के उत्तन में संघ के तीन दिवसीय सम्मेलन के बाद महासचिव भैयाजी जोशी ने कहा किे अगर जरूरत पड़ी तो संगठन आंदोलन शुरू करने में नहीं हिचकेगा, लेकिन चूंकि मामला शीर्ष अदालत में है तो इसकी कुछ सीमायें हैं ।’’

Top Stories