बाबरी मस्जिद- राम जन्मभूमि केस: पांच जजों की खंडपीठ को भेजा गया केस, अगली सुनवाई 27 अप्रैल को

बाबरी मस्जिद- राम जन्मभूमि केस: पांच जजों की खंडपीठ को भेजा गया केस, अगली सुनवाई 27 अप्रैल को
Click for full image

अयोध्या में राम मंदिर-बाबरी मस्जिद को लेकर चल रहे विवाद की सुनवाई शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में हुई।चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की बेंच ने दोनों पक्षों की सुनवाई करने के बाद अयोध्या जमीन विवाद के मुद्दे को पांच जजों की खंडपीठ को भेजने का फैसला किया।इसक साथ ही इस फैसले पर सुप्रीम कोर्ट ने अगली सुनवाई की तारीख 27 अप्रैल तय की है।

इससे पहले उच्चतम अदालत ने इस मामले में 32 हस्तक्षेप याचिका को खारिज कर दिया था इसमें श्याम बेनेगल, अपर्णा सेन और तीस्ता सितलवाड़ की याचिका भी शामिल थी।

बता दें कि बीजेपी और विश्व हिंदू परिषद सहित कई हिंदू संगठनों का दावा है कि हिंदुओं के आराध्यदेव राम का जन्म ठीक वहीं हुआ जहां बाबरी मस्जिद थी।

उनका दावा है कि बाबरी मस्जिद दरअसल एक मंदिर को तोड़कर बनवाई गई थी और इसी दावे के चलते 6 दिसंबर 1992 को बाबरी मस्जिद गिरा दी गई।

Top Stories