Monday , January 22 2018

बारिश के लिए करना होगा इंतजार

सूबे में अब तक अच्छी बारिश नहीं हुई है। सभी झमाझम बारिश की आस में हैं। मौसम महकमा की माने तो 7 से 9 अगस्त के बीच अच्छी बारिश हो सकती है। बिहार में अब तक पांच जिलों में ही बारिश हुई है। इनमें दो में ज्यादा और तीन में आम बारिश हुई है। मौसम

सूबे में अब तक अच्छी बारिश नहीं हुई है। सभी झमाझम बारिश की आस में हैं। मौसम महकमा की माने तो 7 से 9 अगस्त के बीच अच्छी बारिश हो सकती है। बिहार में अब तक पांच जिलों में ही बारिश हुई है। इनमें दो में ज्यादा और तीन में आम बारिश हुई है। मौसम महकमा का कहना है कि मुल्क में 87 फिसद बारिश अभी तक हुई है।

बिहार और झारखंड समेत 13 फिसद इलाके ऐसे हैं, जहां आम से भी कम बारिश हुई है। मॉनसून लाइन यूपी और बिहार होते हुई बंगाल की खाड़ी तक जाती है। यह लाइन हर 15 दिन पर ऊपर – नीचे होती है, जिसकी वजह उन जगहों पर अच्छी बारिश होती है, लेकिन इस इस बार मॉनसून लाइन पाकिस्तान, राजस्थान ,चंडीगढ़, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और ओडिशा की तरफ से झुकते हुई बंगाल की खाड़ी तक गयी है। इस वजह बिहार और झारखंड में झमाझम बारिश नहीं हुई है।

मॉनसून आने के बाद नौवीं बार बंगाल की खाड़ी में दबाव इलाका बन रहा है। इसके पहले आठ बार यह इलाका बन चुका है। दो अगस्त तक बिहार के किशनगंज व अररिया में सबसे ज्यादा और सुपौल, पूर्णिया व वेस्ट चंपारण में आम बारिश हुई है। मौसम सायंस सेंटर की मानें, तो सात अगस्त से पूरे बिहार में मॉनसून लौटेगा और जोरदार बारिश भी होगी, लेकिन दस अगस्त के बाद मॉनसून आम हालत में रहेगा यह कहना मुश्किल है। इसलिए दस अगस्त के बाद ही इस बात का अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि बिहार को सूखा इलाका कहा जाये या नहीं। सबसे कम बारिश वैशाली, गया, लखीसराय, नालंदा व सीतामढ़ी में है, जहां आम से 60 फिसद कम बारिश हुई है।

TOPPOPULARRECENT