Monday , January 22 2018

बारिश मुतास्सिरीन के लिए राहत कारी में तेज़ी

पिछ्ले दो दिनों से हो रही बारिश की वजह से ख़राब हालात और पानी में महसूर मवाज़आत के अवाम को इमदादी इक़दामात में तेज़ी पैदा की गई है।

पिछ्ले दो दिनों से हो रही बारिश की वजह से ख़राब हालात और पानी में महसूर मवाज़आत के अवाम को इमदादी इक़दामात में तेज़ी पैदा की गई है।

ज़िला कलेक्टर एम वीरा बरहमया ने ये बात बताई। हफ़्ते को करीमनगर के हैली पयाड में सहाफ़ीयों के साथ उन्होंने बातचीत करते हुए कहा कि ज़िले में हुई भारी बारिश की वजह से ख़ास तौर पर मंथनी डीवीझ़न में 30 मवाज़आत ज़्यादा मुतास्सिर हुए।

इन मवाज़आत के ताल्लुक़ात बाहर की दुनिया से खत्म हो गए। नदियां और नाले लबरेज़ होने की वजह से 20 मुक़ामात पर आर एंड बी के रास्ते मुकम्मल तौर पर बेकार हो गए।

25 तालाबों में शिगाफ़ पड़ गए, दस हज़ार हेक्टर ज़मीं पर धान, मकई और कपास की फसलों को बहुत ज़्यादा नुक़्सान हुआ। बारिश की वजह से छः अफ़राद फ़ौत हो गए।

जवाइंट कलेक्टर वहां पर मुक़ीम रहकर सैलाब से मुतास्सिरा इलाक़ों में इमदादी इक़दामात की निगरानी कर रहे हैं। इंडियन एयरफ़ोर्स की तरफ से तीन हेलीकाप्टस मंगवाकर इस के ज़रीये पानी में फंसे मुक़ामात पनकीना, पकली मेला, मोडीडो मवाज़आत के 1500 ख़ानदानों को दस हज़ार गिजई पैकेट और ज़रूरी अदवियात पहुंचाने के इक़दामात किए गए।

एन डी आर एफ़ फ़ोर्स से 40 अफ़राद महादेवपुर पहुंच चुके हैं, वो पानी में घिरे मवाज़आत के अवाम को बाहर लाकर महफ़ूज़ मुक़ाम तक पहुंचा रहे हैं।

आइन्दा 48 घंटों में तेज़ बारिश के इमकानात के मद्द-ए-नज़र ओहदादारों को चौकस रहने और हालात का सामना करने के लिए तैयार रखा गया है। इस मौके पर कलेक्टर के साथ डी आर ओ के कृष्णा रेड्डी, डी एस ओ चन्द्रप्रकाश और दुसरे भी मौजूद थे।

TOPPOPULARRECENT