बाल तस्करी मामले में बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय से पुछताछ, भाजपा की मुश्किलें बढ़ीं

बाल तस्करी मामले में बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय से पुछताछ, भाजपा की मुश्किलें बढ़ीं
Click for full image

पिछले साल बाल तस्करी को लेकर एक सनसनीखेज खुलासा पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी में हुआ था। अब सीआईडी की जांच के बाद इसके तार भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय से भी जुड़ते नज़र आ रहे है।

इस गिरोह का पर्दाफाश करने के बाद सीआईडी लगातार जांच में जुटी हुई थी और कड़ी से कड़ी मिलाते हुए अब सीआईडी के हाथ भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के गिरेबान तक पहुंच गए है।

बाल तस्करी मामले में पश्चिम बंगाल सीआईडी ने भाजपा महिला नेता जूही चौधरी को हिरासत में लिया था, जिसके बाद जूही से विजयवर्गीय के सम्पर्क की बात सामने आई।

अपने एक बयान में जूही चौधरी ने कथित रूप से बताया था कि उसने राज्यसभा सांसद रूपा गांगुली के जरिए विजयवर्गीय से संपर्क किया था। मासूम बच्चो की तस्करी करने वाला यह गैंग गोद लेने के अवैध साइड करवाता था और फिर शिशुओं और बच्चों को कथित रूप से बेचता था।

यहाँ तक की कुछ विदेशियों को भी बच्चे बेचे जाने की जानकारी सामने आई है। पिछले साल जून में राज्य सीआईडी ने उक्त मामले में पूछताछ के लिए भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के साथ दो अन्य नेताओं को भी समन भेजा था।

पश्चिम बंगाल सीआईडी ने जलपाईगुड़ी बाल तस्करी मामले में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय से लगातार दो घंटे तक पूछताछ करते हुए लगभग 50 से ज्यादा सवाल पूछे और उनके बयान भी दर्ज किए। पश्चिम बंगाल सीआईडी कैलाश विजयवर्गीय से आगे भी मामले पर सवालात कर सकती है।

Top Stories