बाल बाल बचीं हेमामालिनी

बाल बाल बचीं हेमामालिनी
Click for full image

मथुरा: उत्तर प्रदेश के मथुरा ज़िले के बेमौसम बारिश और एवं ओला से झेल रहे किसानों को रकम न हो पाने और आइंदा जिला पंचायत इंतेखाबात के मुद्दे को लेकर भाजपा की जिला युनिट की तरफ से दूरदराज के एक गांव में मुनाकिद आवामी इजलास में सांसद हेमामालिनी भीड़ में दबने से हफ्ते के रोज़ बाल बाल बच गयी.

सेक्युरिटी गार्ड व साथियों के सहारे भीड़ से बाहर निकल रहीं 67 साला एमपी को जैसे ही दो बच्चे लोगों के पैरों के नीचे गिरकर कुचलते दिखाई दिये. उन्होंने फौरन अपनी जान की परवाह न करते हुए लोगों को हटवाकर उन्हें निकलवाया.

उनको भीड़ के दबाव से बचाकर निकालने वाले एमपी से खास साथी मितुल पाठक ने हादिसा की तस्दीक करते हुए बताया कि वाकई, भीड़ का दबाव काफी ज्यादा था. बड़ी तादाद में लोग उनकी तरफ आना चाहते थे और अगर उन बच्चों को एमपी यानी हेमा मालिनी खुद न बचातीं तो कुछ भी हादसा हो सकता था.

इससे पहले गोवर्धन विधानसभा हल्के के राल गांव में मुनाकिद इजलास से खिताब किया. बारिश के बाद भी तकरीबन दो हजार लोग उस पंडाल में उनके लौटने तक डटे रहे.

हेमा ने दोहराया कि वह रबी की फसल बर्बाद होने से मुतास्सिर मथुरा के किसानों को मुआवज़ा दिलाने के लिए मरकज़ व रियासत की हुकूमत से बात कर चुकी हैं. दोनों तरफ से जल्द ही अदायगी कराने का यकीन दिया गया है.

Top Stories