Thursday , February 22 2018

बाहरी को नौकरी, तो ठप करायेंगे निजाम : हेमंत सोरेन

साबिक़ वजीरे आला हेमंत सोरेन ने कहा है कि इस हुकूमत के रहते आदिवासियों-असल बाशिंदों को नौकरी नहीं मिल सकती। इस हुकूमत में न जमीन हमारी रहेगी, न नौकरी मिलेगी। हेमंत सोरेन झामुमो के 36 वें यौमे तासीस पर दुमका के गांधी मैदान में इजलास

साबिक़ वजीरे आला हेमंत सोरेन ने कहा है कि इस हुकूमत के रहते आदिवासियों-असल बाशिंदों को नौकरी नहीं मिल सकती। इस हुकूमत में न जमीन हमारी रहेगी, न नौकरी मिलेगी। हेमंत सोरेन झामुमो के 36 वें यौमे तासीस पर दुमका के गांधी मैदान में इजलास को खिताब कर रहे थे। उन्होंने कहा : नौजवान कॉलेज का रास्ता छोड़ कर जद्दो-जहद का रास्ता अपनायें। नौकरी के लिए हमारे झारखंड के लोग बिहार जाते हैं, तो मार खाते हैं।

मगरीबी बंगाल जाते हैं, तो उनका सिर फोड़ दिया जाता है। हमें भी मुखालिफत करना होगा। उन्होंने कहा हुकूमत ने कानून को बदलने का काम नहीं किया, तो झामुमो पूरे रियासत में तहरीक करेगा। रियासत में निजाम को ठप करायेगा। रियासत लेने के लिए जैसे हमने इक़्तेसादी नाकेबंदी की थी, वैसे ही तहरीक करना होगा। हेमंत सोरेन ने कहा इज्ज़त से खिलवाड़ हुआ और आदिवासियों ने असलाह उठा लिये, तो पुलिस भी किसी काम की नहीं रहेगी। जब-जब हमने जद्दो-जहद किया है, मुंहतोड़ जवाब देने का काम किया है। हम इस हुकूमत को भी मुंहतोड़ जवाब देंगे।

केरोसिन के दाम क्यों नहीं घटे

हेमंत सोरेन ने कहा एक माह में ही भाजपा हुकूमत के अलामात दिखने लगे हैं। साफ हो चुका है कि हुकूमत आदिवासी और असल बाशिंदों के खिलाफ है। इक्तिदार में आने के बाद पहला काम बड़े घरानों को आगे बढ़ाने का किया है। मुल्क का सियासी चेहरा बन कर कारोबारी बैठे हैं। उनकी नजर पानी , जंगल और जमीन पर है। गरीबों के लिए महंगाई कुछ कम नहीं हुई है। पेट्रोल-डीजल के दाम घटे, तो केरोसिन के क्यों नहीं, जिससे आदिवासियों के घरों में रोशनी आती है। दुमका में वजीरे आजम ने कहा था कि कोई माय का लाल नहीं है, जो आदिवासियों की जमीन ले सके। वहीं हुकूमत ज़मीन तहलील अध्यादेश लाकर धोखे से जमीन का अधिग्रहण करना चाहती है। अगर अध्यादेश लागू हुआ, तो जमीन लेने के लिए उसके मालिक से पूछने की जरूरत नहीं रहेगी।

TOPPOPULARRECENT