Sunday , December 17 2017

बाज़ारी कबाब और बर्गर खाने वालों के लिए सख़्त तंबीया

बहुत से यूरोपीय ख़रीदारों को गोश्त की बनी मसनूआत के मुंदरिजात के बारे में मुग़ालता हो जाता है। इस बारे में सारिफ़ीन के एक ग्रुप ने इन मसनूआत की बेहतर लेबलिंग पर ज़ोर देते हुए ख़रीदारों को ख़बरदार किया है।

यूरोपीयन कंज़्यूमर आर्गेनाईज़ेशन या यूरोपीय सारिफ़ीन के हुक़ूक़ के लिए सरगर्म इदारे ने बुध को एक बयान में कहा है कि 2013 में गोश्त से बनी मसनूआत में घोड़े के गोश्त की मिलावट के स्कैंडल के सामने आने के तनाज़ुर में मुतालिबा किया जाता है कि मसनूआत पर अज्ज़ा-ए-तर्कीबी या मुंदरिजात की फ़ेहरिस्त वाज़ेह होनी चाहिए और इस बारे में कंट्रोल या छानबीन का निज़ाम सख़्ततर किया जाये।

सारिफ़ीन के हुक़ूक़ के इस इदारे ने बुध को जारी होने वाले एक बयान में कहा है कि 2013 में इस स्कैंडल के सामने आने के वक़्त, अक्सर यूरोपीय ममालिक की सुपर मार्केट्स में बिकने वाले रेडीमेड हैमबर्गरज़ और लाज़ानिया में घोड़े का गोश्त मिला हुआ था ताहम उन मसनूआत पर लगे लेबल में इस का कोई ज़िक्र नहीं था।

TOPPOPULARRECENT