Monday , December 11 2017

बिजनौर: पीड़ित परिवार का बयान, हम बच कर भाग रहे थे, हमलावर देखकर हंस रहे थे !

बिजनौर (उत्तर प्रदेश): बिजनौर में मुस्लिम लड़की के साथ हुई छेड़छाड़ के बाद दो समुदायों के बीच हुए सांप्रदायिक संघर्ष में एक ही समुदाय के 27 से 30 आयु वर्ग के चार लोगों कि मौत हो गयी जबकि 12 लोग घायल हो गये | जबकि गंभीर रूप से घायल 5 लोगों को इलाज के लिए मेरठ ले जाया गया है |

बिजनौर के पेदा गाँव में शुक्रवार सुबह 7:00 बजे शुरू हुए इस सांप्रदायिक संघर्ष में मारे गये और घयाल हुए पीड़ितों के परिवार कि महिला सदस्यों ने डीएनए से हुई बातचीत में बताया कि छह भाइयों का परिवार एक ही घर में एक साथ रहता है | उन्होंने बताया कि हमलावरों ने घर में घुसकर हमे रेप कि धमकी डी और आधे घंटे तक फायरिंग करते हुए परिवार के सभी पुरुष सदस्यों को गोली मारी | महिलाओं ने बताया कि उन लोगों ने हमारे साथ भी मारपीट की | हम ग़रीब लोग हैं हमें इस मामले में इन्साफ मिलना चाहिए |

पीड़ित परिवार का रिश्तेदार शाहनवाज, जिसके कंधे में गोली लगी है ने बताया कि हमलावरों ने चारों और से फायरिंग की थी और हमें बचने के लिए इधर उधर दौड़ता हुआ देखकर हंस रहे थे | जो त्रासदी हमारे परिवार ने देखी है उसे बयान नहीं किया जा सकता है |

पुलिस ने बताया कि घटना के बाद आरोपी गाँव छोड़कर भाग गये हैं । आरोपियों से संबंधित आठ को महिलाओं को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। घटना के मद्देनजर इलाके में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है, लेकिन अभी तक इस मामले में कोई एफ़आईआर दर्ज नहीं की गयी  है  |

डीजीपी एस जावेद अहमद ने कहा कि स्थिति नियंत्रण में है और एडीजी (कानून एवं व्यवस्था) हालात पर नज़र रखे हुए हैं |

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मृतक और घायलों को 5 लाख रुपये में से प्रत्येक के परिवार को 20 लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की है ।उन्होंने कहा किदोषी पाए जाने वाले के खिलाफ सख्त कार्रवाई कि जाएगी |

TOPPOPULARRECENT