Saturday , December 16 2017

बिजली की तलब और पैदावार में वाज़ेह फ़र्क़ बोहरान की असल वजह

सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने बिजली कटौती से अवाम को पेश आने वाले मसाइल पर माज़रत ख़्वाही करते हुए कहा कि हुकूमत , बिजली की सरबराही के लिये बड़े पैमाने पर इक़दामात कर रही है । चीफ मिनिस्टर , वज़ीर आज़म से मुलाक़ात करने के लिये आज दिल

सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने बिजली कटौती से अवाम को पेश आने वाले मसाइल पर माज़रत ख़्वाही करते हुए कहा कि हुकूमत , बिजली की सरबराही के लिये बड़े पैमाने पर इक़दामात कर रही है । चीफ मिनिस्टर , वज़ीर आज़म से मुलाक़ात करने के लिये आज दिल्ली गए हैं । क़ौमी सतह पर बिजली पॉलीसी में तरमीम करने पर ज़ोर दिया ।

आज गांधी भवन में प्रेस कान्फ़्रैंस से ख़िताब करते हुए सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने कहा कि बिजली की तलब और पैदावार में बहुत ज़्यादा फ़र्क़ पैदा हो गया है ।नाकाफ़ी बारिश एक वजह है तो दूसरी तरफ़ गैस के इन्हिसार पर बिजली वसूल नहीं हो रही है और रियासत में बेशतर पराईवेट बिजली प्लांटस हैं जो दूसरी रियासतों को बिजली फ़रोख़त कर रहे हैं कोयला से तय्यार होने वाला बिजली निज़ाम बेहतर है ।

एसी पॉलीसी ये होनी चाहीए कि जिस रियासत में ख़ानगी बिजली प्रोजेक्ट है पहले वो इस रियासत के बिजली तक़ाज़ों को पूरा करें इस के बाद दूसरी रियासतों को बिजली सरबराह करें वो भी चीफ मिनिस्टर से अपील करते हैं कि मुस्तक़बिल में बिजली प्रोजेक्ट क़ायम करना है तो पहले हुकूमत ही क़ायम करें या ख़ानगी शोबा के हवाले किया जा रहा है तो इस में हुकूमत का हिस्सा रखें ।

रियासत में बिजली के जो भी मसाइल हैं इस के लिये 2008 की हुकूमत के इलावा साबिक़ हुकूमत इस के लिये ज़िम्मेदार है । उन्हों ने जएपाल रेड्डी ज़िम्मेदार होने के सवाल को मुस्तर्द कर दिया और कहा कि गुज़शता 50 साल में ये पहला साल है जिस में रियासत के अवाम को इतने संगीन बिजली मसाइल का सामना करना पड़ रहा है । उन्हों ने अवाम से भी अपील की है कि वो फ़ुज़ूल बिजली ख़र्च ना करें बिजली की बचत करते हुए हुकूमत से तआवुन करें ।।

TOPPOPULARRECENT