Wednesday , November 22 2017
Home / India / हरियाणा : बिरयानी के सैंपल में गौमांस की तसदीक़

हरियाणा : बिरयानी के सैंपल में गौमांस की तसदीक़

मेवात : हरियाणा में गौमांस रखने, खाने और उसके कारोबार पर पाबंदी है. मालूम हो की हरियाणा सरकार के पास शिकायत आई थी कि जो बिरयानी बिक रही है, उसमें गौमांस का इस्तेमाल हो रहा है. हरियाणा सरकार के मुताबिक राज्य के गौसेवा आयोग को मिली शिकायत के बाद बीते दिनों मेवात में अलग-अलग जगह बेची जा रही बिरयानी के सात नमूने लिए गए थे. इन्हें जांच के लिए हिसार की लाला लाजपत राय यूनिवर्सिटी की लैब में भेजा गया था. हरियाणा सरकार के मुताबिक राज्य के मेवात से लिए गए बिरयानी के नमूनों में ‘गौमांस’ की पुष्टि हुई है. कानून के मुताबिक गौहत्या पर तीन से दस साल तक की सज़ा का प्रावधान है. एक लाख तक जुर्माने का प्रावधान है. गौमास रखने और खाने पर तीन साल से लेकर सात साल तक की सज़ा का प्रावधान है.” सरकार का कहना है कि इस मामले में ‘कानून के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी’.

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने बताया की “रिपोर्ट आई है कि सात के सात सैंपल पॉजिटिव पाए गए हैं और उनमें गाय का मांस पाया गया है.” जानकारों का कहना है कि पके हुए मांस की जांच आसान नहीं होती. इस सवाल पर कि क्या हिसार की लैब ऐसी जांच में सक्षम है, विज ने कहा, “ये लैब पूरी तरह से सक्षम है. जो अंतरराष्ट्रीय मानक हैं और जो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तरीका अपनाया जाता है उन्होंने उसके तहत ही जांच की है.” विज ये भी कहते हैं कि सरकार हरियाणा में ऐसा कोई अभियान नहीं चला रही है. मेवात में कार्रवाई फीड़बैक के आधार पर की गई थी. वो कहते हैं, “हमने जो गौसुरक्षा फोर्स बनाई हुई है उसकी हेड आईपीएस भारती अरोड़ा और हमारे गौसेवा आयोग के अध्यक्ष के पास पुख्ता जानकारी थी.” इस मामले में हरियाणा गौसेवा आयोग के प्रमुख भनीराम मंगला ने बताया,

TOPPOPULARRECENT