Wednesday , December 13 2017

बिसाहड़ा :अखलाक हत्या के आरोपी रवी का 25 लाख रु. मुआवज़े की शर्त पर हुआ अंतिम संस्कार

दादरी:अखलाक की हत्या के आरोपी रवि सिसोदिया के शव का तीन दिन बाद शुक्रवार को 25 लाख रु. मुआवजा उस की बेटी की देख रेख की जिम्मेदारी और उन की पत्नी को नौकरी की शर्त पर अंतिम संस्कार कर दिया गया. यह फैसला शुक्रवार की शाम को एक मीटिंग में हुआ. उस मीटिंग में सांसद महेश शर्मा, सरधना के विधायक संगीत सोम, डिबई के विधायक भगवान शर्मा, रवि के परिवार वाले और जिला प्रशासन के कुछ सीनियर लोग शामिल थे. मीटिंग के बाद संगीत सोम ने लोगों से रवि का अंतिम संस्कार करने की गुजारिश की. लेकिन कुछ लोगों ने संगीत की बात मानने से इंकार कर दिया,समझाने पर वे मन गए. सांसद महेश शर्मा ने राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए उन्हें जिम्मेदार ठहराया, उन्होंने सवाल किया कि अगर रवि की तबियत ठीक नहीं थी तो उसे मेडिकल सुविधा क्यों नहीं दी गई.

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

जनसत्ता के अनुसार, गौतम बुद्ध नगर के जिला मजिस्ट्रेट एनपी सिंह ने जानकारी दी कि रवि के परिवार को 25 लाख रुपए मुआवजा दिया जाएगा, इसमें से 10 लाख राज्य सरकार देगी, 10 लाख एक संस्था देगी वहीं 5 लाख रुपए उस इलाके के सांसद महेश शर्मा और सरधना के विधायक संगीत सोम देंगे. प्रशासन और परिवार के बीच जो समझौता हुआ उसमें यह कहा गया कि 11 लोगों की एक कमेटी बनाई जाएगी, उसमें गांव के कुछ लोग और इलाके के विधायक को शामिल किया जाएगा, इस कमेटी का काम अखलाक पर लगे गौहत्या के केस में लगी पुलिस की जांच को देखने का होगा. राज्य सरकार ने भी केस की सीबीआई जांच की अर्जी को स्वीकार करके आगे बढ़ा दिया है.जिला मजिस्ट्रेट ने रवि की एक साल की बेटी की देखरेख की पूरी जिम्मेदारी ली,वहीँ मीटिंग में रवि की पत्नी को भी शिक्षा और नौकरी देने की बात कही गई है.
इससे पहले ग्रामीणों ने रवि को शहीद करार देते हुए उसके शव पर तिरंगा रख दिया था और सरकार से एक करोड़ रुपये के मुआवजा देने की मांग लेकर धरना पर बैठ गए थे. इसके साथ ही ग्रामीण अखलाक हत्याकांड में नामजद सभी 17 लोगों को तुरंत रिहा करने की मांग कर रहे थे. 22 वर्षीय रवि सिसोदिया की मौत मंगलवार को किडनी और श्वसन तंत्र फेल हो जाने से हो गई थी.

TOPPOPULARRECENT