Friday , December 15 2017

बिहारीगंज में नहीं थम रही सांप्रदायिक हिंसा, अगले आदेश तक कर्फ्यू

मधेपुरा : जिले के बिहारीगंज में दुर्गापूजा के मौके पर दो पक्षों के बीच उत्पन्न हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है, गुरुवार को स्थिति बिगड़ने पर प्रशासनिक पदाधिकारी लगातार बिहारीगंज में कैंप कर रहे हैं. स्थिति को नियंत्रण करने के लिए भारी संख्या में अतिरिक्त पुलिस बल को बिहारीगंज में तैनात किया गया है. विवाद इतना बढ़ा गया है कि दोनों पक्षों के लोग एक दूसरे के खिलाफ सड़कों पर उतर कर आगजनी व तोड़फोड़ की घटना को अंजाम देने लगे. लोगाें की मांग पर उदाकिशुनगंज के एसडीपीओ रहमत अली को मधेपुरा मुख्यालय का डीएसपी बना दिया गया है.

हालांकि शुक्रवार को प्रशासन ने काफी मशक्कत के बाद स्थिति पर नियंत्रण तो कर लिया लेकिन वहां तनाव आज भी बरकरार है. प्रशासन ने बिहारीगंज में धारा 144 लागू कर दी है. कई जिलों से मंगाये गये पुलिस बल से पूरा इलाका पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है. आस-पास के सभी बाजार लगभग बंद हैं. पुलिस के आला अधिकारी भी वहां कैंप कर रहे हैं. हर चौक चौराहों पर दंडाधिकारी के साथ भारी संख्या में पुलिस बल को प्रतिनियुक्त किया गया है. बाहर से आने जाने वाले हरेक व्यक्ति पर पुलिस पैनी नजर बनाये हुई है. डीएम ने सांसद सहित अन्य विधायकों के काफिले के साथ बिहारीगंज प्रवेश पर रोक लगा दी है. पुलिस बल की सख्ती के बाद अराजक तत्वों का मनोबल टूटता नजर आ रहा है. प्रशासन ने स्थिति से निबटने के लिए सारी ताकत झोंक दी है. गुरुवार शाम से ही बिहारीगंज समेत जिले भर में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गयी हैं.

TOPPOPULARRECENT