Saturday , December 16 2017

बिहार : परीक्षा प्रणाली में बदलाव, साॅफ्ट कॉपी बनायी जायेगी, रिजल्ट भी तुरंत

पटना : बिहार में इंटर और मैट्रिक की परीक्षा प्रणाली में बदलाव के साथ मूल्यांकन में भी बदलाव किया जायेगा. इंटर और मैट्रिक की परीक्षा के बाद प्रदेश भर की उत्तर पुस्तिकाएं एक जगह रखी जायेंगी. इनके इकट्ठा होने के बाद उत्तर पुस्तिकाओं की स्कैनिंग की जायेगी. स्कैन होने के बाद सभी उत्तर पुस्तिकाओ की साॅफ्ट कॉपी बनायी जायेगी. सॉफ्ट काॅपी को कंप्यूटर की मदद से तमाम मूल्यांकन केंद्रों पर भेजा जायेगा. ज्ञात हो कि अभी तक उत्तर पुस्तिका को मूल्यांकन केंद्र पर भेजी जाती थीं, लेकिन 2016 कंपार्टमेंटल और 2017 के वार्षिक इंटर और मैट्रिक की परीक्षा में उत्तर पुस्तिका की सॉफ्ट काॅपी मूल्यांकन केंद्र पर भेजी जायेगी.

मूल्यांकन कार्य में शामिल होनेवाले शिक्षकों के मानदेय को भी समिति इस बार बढ़ायेगी. समिति के अनुसार कई सालों से मानदेय की राशि नहीं बढ़ायी गयी है. इस बार सारा कुछ कंप्यूटराइज्ड होगा. शिक्षकों काे कंप्यूटर पर ही उत्तर पुस्तिकाएं जांच करनी है. इसलिए मानदेय की राशि बढ़ायी जायेगी. समिति के अनुसार सेवानिवृत्त शिक्षकों को भी मूल्यांकन कार्य में शामिल किया जायेगा, ताकि कार्य जल्दी और सुगमता पूर्वक हो. इस बार मूल्यांकन का सारा काम कंप्यूटर से होना है, इसलिए मूल्यांकन के बाद रिजल्ट तैयार करने में महीने भर का समय नहीं लगेगा.

मूल्यांकन के साथ ही रिजल्ट तैयार हो जायेगा.पहले मार्क्स की फाइल बना कर और फिर उसे कंप्यूटर पर डालने में काफी समय लगता था. सारी गड़बड़ियां भी इसी दौरान की जाती थी. अब मूल्यांकन के साथ ही रिजल्ट तैयार हो जायेगा. बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि मूल्यांकन होने के साथ ही रिजल्ट तैयार हो जायेगा. मई के पहले ही रिजल्ट घोषित की जा सकती है.

TOPPOPULARRECENT