Monday , December 11 2017

बिहार : एक मंदिर की तामीर में मुस्लमानों की इमदाद

एक तरफ़ हैदराबाद के मुस्लिम अक्सरीयती पुराने शहर में तारीख़ी चारमीनार से मुत्तसिल एक हिंदू मंदिर की तौसी पर तशद्दुद ने मीडीया की तवज्जु हासिल कर रखी है, दूसरी तरफ़ बिहार के ज़िला सीतामढ़ी में छथ फ़ैस्टीवल से पहले मुस्लमानों की तरफ़ स

एक तरफ़ हैदराबाद के मुस्लिम अक्सरीयती पुराने शहर में तारीख़ी चारमीनार से मुत्तसिल एक हिंदू मंदिर की तौसी पर तशद्दुद ने मीडीया की तवज्जु हासिल कर रखी है, दूसरी तरफ़ बिहार के ज़िला सीतामढ़ी में छथ फ़ैस्टीवल से पहले मुस्लमानों की तरफ़ से लार्ड शिवा के लिए मख़सूस एक मंदिर की तामीर में ख़ामोशी से हिंदो की मदद कर रहे हैं।

सदर शिवा टम्पल कंस्ट्रक्शन कमेटी राज किशवर रावत ने आई ए एन एस को बताया कि मुस्लिम अफ़राद ना सिर्फ़ मंदिर की तामीर के लिए रक़म का अतीया दे रहे हैं, बल्कि वो ये यक़ीनी बनाने में भी सरगर्म हैं कि ये मंदिर जल्दी तामीर होजाए।

रावत ने जो एक स्कूल टीचर है, कहा कि इस मंदिर की तामीर हिंदू। मुस्लिम भाई चारा की उम्दा मिसाल है। एक देहाती मुहम्मद सदर आलम ख़ान ने कहा कि दर्जनों मुस्लमानों बिशमोल सरबराह अकबरी ख़ातून ने इस मंदिर की तामीर के लिए किसी ना किसी तरह का हिस्सा अदा किया है।

आलम ख़ान ने कहा कि ये इस गा के लिए बहैसीयत मजमूई एक मुसबत तबदीली है। सीतामढ़ी टा जो फ़िर्कावाराना लड़ाई की तारीख़ रखता है, इसमें वस्त 1990 दहिय में फ़सादाद पेश आए थे। मुस्लमान बिहार की 105 मिलिय्यन आबादी के लग भग 16 फ़ीसद हिस्से पर मुश्तमिल हैं।

TOPPOPULARRECENT