Thursday , December 14 2017

बिहार: एडीजी ने ‘इस्लाम’ के नाम पर IPS ‘मंसूर अहमद’ का किया अपमान

पटना: मनसूर (IPS) ने बिहार के पुलिस डाइरेक्टर जनरल को लिखे कम्प्लेन लेटर में लिखा है कि शराब न पीने के संकल्प सभा के आयोजन के दौरान एडीजी सुनील कुमार ने उनको अपमानित किया. और सुनील कुमार ने मंसूर अहमद को धमकाते हुए कहा कि यह भारत देश है कोई इस्लामिक देश नहीं.

दर असल मंसूर संकल्प पत्र में शराब न पीने का शपथ पत्र भर रहे थे. उन्होंने आखरी लाइन में एक लाइन जोड़ी जिसमें लिखा कि शराब को चौदह सौ वर्ष पहले ही हराम करार दिया गया था. इसे अल्लाह के रसूल (सल्ला०) ने भी हराम करार दिया था. (उल्लेखनीय है कि कुरान शरीफ में सुरह न 2 आयत न 219 में शराब को हराम करार दिया था जो 1400 साल पुरानी किताब है)

मंसूर ने अपने शिकायत पत्र में आगे लिखा है कि इस लाइन को पढ़ते ही एडीजी सुनील कुमार आगबगोला हो गये और उन्होंने कहा कि इस्लाम की बात लिखते हो. यह इस्लामी देश नहीं है. मंसूर अहमद आईपीएस ने कहा है कि सुनील कुमार ने उन्हें धमकी देते हुए कहा कि वह मंसूर को बरबाद कर देंगे. आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने इस संबंध में नौकरशाही डॉट कॉम को बताया कि इस तरह घटना का जिक्र उन्होंने भी सुना है.

गौर तलब है कि मंसूर अहमद अगले 6 महीने में रिटायर होने वाले हैं.  मंसूर अहमद के अनुसार इससे पहले भी पुलिस महकमे के सीनियर अफसर उनको प्रताड़ित करते रहे हैं. उन्होंने इस संबंध में बिहार सरकार से अपील भी की थी कि उन्हें प्रेस कांफ्रेंस करके अपनी बात रखने का मौका दिया जाये.

TOPPOPULARRECENT