Wednesday , July 18 2018

बिहार: ‘औरंगाबाद’ के बाद ‘कैमूर’ जिले में भी रामनवमी पर हिंसा, भारी पुलिस बल तैनात

बिहार के औरंगाबाद और कैमूर जिले में शोभा यात्रा को लेकर दो पक्षों के बीच तनाव उत्‍पन्‍न हो गया है। तनाव की आड़ में उपद्रवियों ने आगजनी व पथराव किया। कई गाडि़यों को आग के हवाले कर दिया। स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। विदित हो कि शनिवार को सिवान में तनाव का माहौल था। आज वहां स्थिति सामान्‍य है।

जानकारी के अनुसार, औरंगाबाद शहर के नावाडीह मोहल्ले में रविवार शाम बाइक जुलूस पर पथराव के बाद शहर में तनाव बढ़ गया। उपद्रवियों ने नावाडीह में जमकर हंगामा एवं दुकानों में तोडफ़ोड़ की। नगर थाना के सदर अस्पताल के पास स्थित दर्जन भर दुकानों में आग लगा दी। दुकान में रखा सामान धू-धू कर जलने लगा। रोड़ेबाजी में दर्जनों उपद्रवियों के घायल होने की सूचना है।

उपद्रवियों ने पुलिस वाहन पर पथराव किया है। पुलिस वाहन के क्षतिग्रस्त होने की सूचना है परंतु इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। आगजनी की सूचना पर डीएम राहुल रंजन महिवाल एवं एसपी डा. सत्यप्रकाश रमेश चौक पहुंचे और उपद्रवियों को खदेड़ा। सुरक्षा बलों ने उपद्रवियों को पीटकर भगाया। 50 से अधिक उपद्रवियों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। दर्जनों बाइक जब्त की गई है।

घटना को देखते हुए डीएम के द्वारा पूरे शहर में धारा 144 लागू की गई है। सड़क पर भीड़ नहीं लगाने का घोषणा की गई। पूरे शहर में पुलिस गश्ती बढ़ा दी गई है। शहर में सीआरपीएफ जवानों को तैनात किया गया है। सीआरपीएफ एवं जिला पुलिस बलों का फ्लैग मार्च कराया गया। एंटी लैंड माइंस एवं दंगा निरोधक वाहन को शहर में दौड़ाया गया।

डीएम ने बताया कि उपद्रवियों के द्वारा शहर में माहौल बिगाड़ा गया है। दुकानों में आग लगाई गई है। उपद्रवियों को चिन्हित किया जा रहा है। उपद्रवियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। बताया कि घटना को देखते हुए शहर में धारा 144 लगाई गई है।

एसपी ने बताया कि घटना के बाद कई उपद्रवियों को हिरासत में लिया गया है। कई बाइक जब्त की गई है। पूरे शहर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। हर मुहल्ले में पुलिस बलों के द्वारा सघन गश्ती की जा रही है। घटना के बाद शहर पुलिस छावनी में तब्दील हो गया है।

बताया जाता है कि नावाडीह मोहल्ले में तनाव के बाद पहुंचे एसडीओ सुरेंद्र प्रसाद, एसडीपीओ पीएन साहू मामले को नियंत्रित करने में लगे थे तभी सदर अस्पताल के पास स्थित दुकानों में उपद्रवियों ने आग लगा दिया। तनाव के बीच स्थिति शांतिपूर्ण है।

वहीं, कैमूर जिले के चैनपुर थाना क्षेत्र के मलिकसराय गांव में रामनवमी की शोभा यात्रा के दौरान दो पक्षों के बीच झड़प हो गई। हाथापाई भी हुई। इस घटना में आठ लोगों के घायल होने की सूचना मिली। जिसमें से एक गंभीर रूप से घायल को रेफर कर दिया गया। जिनका इलाज पीएचसी चैनपुर में किया गया। झड़प की सूचना पर मौजूद पुलिस व बाद में पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों को समझा बुझा कर मामला शांत कराया।

मिली जानकारी के अनुसार मलिकसराय गांव में बीते शनिवार की शाम एक पक्ष द्वारा बाइक जुलूस निकाला गया। जिसमें दूसरे पक्ष का कुछ सामान बाइक की टक्कर से क्षतिग्रस्त हो गया। रविवार को रामनवमी शोभा यात्रा के दौरान मलिकसराय में जुलूस लेकर जा रहे लोगों को दूसरे पक्ष के लोगों ने यह कह कर रोक दिया कि यह रास्ता रूट में नहीं है। इसी बात को लेकर दोनों पक्षों में झड़प हो गई।

झड़प के दौरान दोनों पक्ष से काफी देर तक पत्थरबाजी हुई। इस संबंध में पूछे जाने पर थानाध्यक्ष ने बताया कि हल्की झड़प दो पक्षों के बीच हुई थी। लेकिन अब मामला शांत है। जुलूस कार्यक्रम सुचारू रूप से चल रहा है।

बता दें कि शनिवार को शोभायात्रा निकालने को लेेकर बिहार के सिवान जिले में भी हिंसक झड़प हुई थी। जिले के एमएच नगर थाना क्षेत्र अंतर्गत निजामपुर कर्बला के समीप शनिवार को श्रीराम जन्मोत्सव के पूर्व बाइक से निकाली गई शोभा यात्रा को रोके जाने के बाद दो पक्षों में तनाव हो गया।

देखते ही देखते थोड़ी देर बाद पथराव शुरू हो गया। शरारती तत्वों ने जमकर उत्पात मचाया। उपद्रवियों ने एक प्राइवेट स्कूल में तोडफ़ोड़ की और दो स्कूली वाहनों को आग के हवाले कर दिया।

TOPPOPULARRECENT