Monday , December 18 2017

बिहार की तरक्की की शरह बढ़ कर 14 फीसद पहुंची

पटना 22 जुलाई : बिहार की तरक्की शरह में अजाफा हुआ है।2013-14 में यह 14 फिसद के करीब पहुंच गयी है। प्रायमरी सेक्टर में तरक्की शरह में अजाफा दर्ज की गयी है। इस मामले में बिहार ने गुजरात और महाराष्ट्र जैसे तरक्की याफ्ता रियासतों को भी पीछे छो

पटना 22 जुलाई : बिहार की तरक्की शरह में अजाफा हुआ है।2013-14 में यह 14 फिसद के करीब पहुंच गयी है। प्रायमरी सेक्टर में तरक्की शरह में अजाफा दर्ज की गयी है। इस मामले में बिहार ने गुजरात और महाराष्ट्र जैसे तरक्की याफ्ता रियासतों को भी पीछे छोड़ दिया है।

कौमी तरक्की शरह के मुकाबले में बिहार की तरक्की शरह दोगुना से ज्यादा है। 2011-12 के मुकाबले में तकरीबन एक फिसद तरक्की शरह में अजाफा हुई है। तब यह 13.27 थी। हालांकि, एडवांस ताईन की बुनियाद पर 2012-13 की तरक्की शरह 9.48 बतायी गयी थी। इस अजाफा में तामीर इलाके का ज्यादा शराकत है। तामीर इलाके में तकरीबन 25 फिसद तरक्की शरह बतायी जा रही है।

तरक्की शरह में बुनयादी शोबा का भी तावुन बढ़ने की बात कही जा रही है। गुजिश्ता साल फसल पैदावारी बेहतर होने से जराअत के शोबे में भी तरक्की शरह ठीक है। माहि इलाके का शराकत तकरीबन 20 फिसद है। ट्रेड, होटल, ट्रांसपोर्ट के इलाके में भी अजाफा दर्ज की गयी है। बैंकिंग, इंश्योरेंस, रियल इस्टेट और बिजनेस सर्विस के इलाके का भी तरक्की शरह में ज्यादा शराकत है। माइनिंग इलाके का शराकत जीरो है।

TOPPOPULARRECENT