Wednesday , September 26 2018

बिहार की देही सड़कों के लिए 4580 करोड़ मंजूर

मर्कज़ी देही तरक़्क़ी वज़ीर जयराम रमेश ने बताया कि वजीरे आजम देही सड़क मंसूबा के तहत बिहार को एक सप्ताह पहले दो हजार 861 नयी सड़कों की मंजूरी दी गयी है। इसकी कुल लंबाई 5636 किलोमीटर है।

मर्कज़ी देही तरक़्क़ी वज़ीर जयराम रमेश ने बताया कि वजीरे आजम देही सड़क मंसूबा के तहत बिहार को एक सप्ताह पहले दो हजार 861 नयी सड़कों की मंजूरी दी गयी है। इसकी कुल लंबाई 5636 किलोमीटर है।

नयी सड़कों की तामीर पर तीन हजार 950 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे। मर्कज़ ने रियासत की 519 किलोमीटर सड़कों के हाइवे की भी मंजूरी दे दी है। इसमें 111 पुलों की तामीर किया जायेगा। दोनों मंसूबों पर कुल चार हजार 580 करोड़ की मंजूरी दी गयी है। उन्होंने बताया कि रियासत को तीन सालों में कुल 16 हजार किमी सड़कों की मंजूरी दी गयी है, जिन पर 12 हजार करोड़ रुपये खर्च होगा।

बिहार के दौरे पर पटना पहुंचे मर्कज़ी वज़ीर रमेश ने जुमा को प्रेस कोन्फ्रेंस में बताया कि मर्कज़ की तरफ से बिहार को दिया गया पैसा कोई मेहरबानी नहीं, बल्कि यह रियासत का हक है। बिहार को चार हजार किलोमीटर सड़कों की और जरूरत पड़ेगी, जो 2014-15 में मर्कज़ में आनेवाली नयी हुकूमत मंजूर करेगी। देही सड़कों की तामीर से राब्ते में बेहतरी आया है। हालांकि, उन्होंने कुबूल किया कि रियासत में देही सड़कों को लेकर शिकायतें आती हैं। आधी-अधूरी बनी सड़कें भी पड़ी हुई हैं। पर, वह शिकायत करने नहीं आये हैं। पैसा देना मर्कज़ का काम है, जबकि पैसा खर्च करना रियासत की जिम्मेवारी है। यह मर्कज़ और रियासत की जुगलबंदी है।

TOPPOPULARRECENT