Tuesday , April 24 2018

बिहार के मदरसे में लड़कियों के दाख़िले पर इमतिना

बिहार में हुकूमत से मुल्हिक़ा एक मदर्से में लड़कियों के दाख़िले पर इमतिना आइद किया गया है क्यों कि वहां लड़कियों केलिए अलाहदा इंतेज़ाम नहीं है और मख़लूत तालीम इस्लामी तालीमात के मुग़ाइर है।

बिहार में हुकूमत से मुल्हिक़ा एक मदर्से में लड़कियों के दाख़िले पर इमतिना आइद किया गया है क्यों कि वहां लड़कियों केलिए अलाहदा इंतेज़ाम नहीं है और मख़लूत तालीम इस्लामी तालीमात के मुग़ाइर है।

मदरसे अज़ीज़िया जो बिहारशरीफ में वाक़्य है , ने एक फ़तवा जारी किया है जिसके मुताबिक़ लड़कियों को मदरसे में दाख़िला नहीं दिया जाएगा और जिन्हें पहले ही दाख़िला दिया जा चुका है उन्हें मदरसे की हुदूद में दाख़िल होने की इजाज़त नहीं है।

मदरसे अज़ीज़िया के सैक्रेटरी एस एम अशर्फ़ ने बताया कि मख़लूत तालीम चूँकि इस्लामी तालीमात के मुग़ाइर है लिहाज़ा लड़कियों के दाख़िला पर इमतिना का फैसला किया गया है।

लड़के और लड़कियां एक साथ तालीम हासिल नहीं कर सकते और लड़कियों केलिए कोई मर्द टीचर भी नहीं होगा। उन्होंने कहा कि लड़कियों केलिए ख़ातून टीचर्स की तक़र्रुरी की जाएगी और उन केलिए अलाहदा नशिस्तों का एहतेमाम किया जाएगा, जिस के लिए कुछ माह दरकार होंगे।

याद रहे कि मदरसा अज़ीज़िया सुग़रा वक़्फ़ स्टेट कमेटी की जानिब से चलाये जाता है । ये मदरसा इन सैंकड़ों मदारिस में शामिल है जो हुकूमत से मुल्हिक़ा हैं और जहां तलबा-ए-तालिबात को साईकल , यूनीफार्म , किताबें और दीगर अशिया-ए-मुफ़्त दी जाती हैं।

TOPPOPULARRECENT