Monday , December 11 2017

बिहार के लोगों के बीच पहुंचे शरद यादव, कहा- ‘गठबंधन टूटने से 11 करोड़ लोगों का विश्वास टूटा’

पटना। जेडीयू के वरिष्ठ नेता शरद यादव अब खुलकर सीएम नीतीश कुमार के विरोध में आ गए हैं। नीतीश के बीजेपी के साथ गठबंधन के फैसले का विरोध करते हुए शरद यादव ने गुरुवार को कहा कि वह राज्य में यात्रा करके लोगों के बीच जाएंगे और उनसे बात करेंगे। शरद ने सीधे शब्दों में कहा, ‘महागठबंधन हमने पांच साल के लिए किया था। 11 करोड़ लोगों का विश्वास टूटा है।’

गौतरलब है कि शरद यादव की नीतीश से नाराजगी की खबरें आ रही थीं। वह कथित तौर पर आरजेडी से रिश्ता खत्म कर बीजेपी के साथ जेडीयू के गठबंधन से खुश नहीं हैं।

बीच में यह भी खबरें आईं कि शरद यादव जेडीयू से अलग होकर अपनी पार्टी बना सकते हैं। राजनीतिक जानकार मानते हैं कि शरद यादव की यात्रा के बाद इस मसले पर कोई बड़ा ऐलान हो सकता है।

शरद ने मीडिया से बातचीत में कहा कि वह अब भी पुराने गठबंधन के साथ हैं। शरद ने कहा, ‘जिस जनता ने गठबंधन बनाया था, जिस जनता से हमने जो करार किया था, वो ईमान का करार था। वो टूटा है जिससे हमको तकलीफ हुई है।’

शरद ने आगे कहा कि चुनाव में एक मेनिफेस्टो जेडीयू का था, जब एक मेनिफेस्टो बीजेपी का। जेडीयू लीडर के मुताबिक, 70 साल के इतिहास में ऐसा कोई उदाहरण नहीं मिलता, जहां दो पार्टी या गठबंधन जो चुनाव में आमने-सामने लड़े हों और जिनके मेनिफेस्टो अलग-अलग हों, दोनों के मेनिफस्टो मिल गए हों। शरद ने कहा कि लोकशाही में विश्वास का संकट है और इस मुद्दे पर वह जनता के बीच जाकर बात करेंगे।

बता दें कि शरद की नीतीश से नाराजगी नई सरकार के गठन के बाद से ही चली आ रही है। टि्वटर पर भी वह सत्ताधारी बीजेपी की अगुआई वाली केंद्र सरकार की आलोचना कर रहे हैं।

चुनाव आयोग द्वारा बीजेपी की दरख्वास्त खारिज करते हुए कांग्रेसी विधायकों के राज्यसभा चुनाव में वोट कैंसल करने के फैसले की शरद ने जमकर तारीफ की। वह यहीं नहीं रुके, एक के बाद एक कई ट्वीट करके सरकार की नीतियों की भी आलोचना की।

TOPPOPULARRECENT