Tuesday , December 12 2017

बिहार पर छह हफ्ताह में लें फैसला : नीतीश

वज़ीरे आला नीतीश कुमार ने मर्कज़ी वज़ीरे खज़ाना पी चिदंबरम को खत लिख कर रघुराम राजन कमेटी की रिपोर्ट की बुनियाद पर बिहार को खुसूसि रियासत के दर्जे की तर्ज पर खुसूसि मदद जारी करने की दरख्वास्त की है। खत में वज़ीरे आला ने छह हफ्ताह के अंद

वज़ीरे आला नीतीश कुमार ने मर्कज़ी वज़ीरे खज़ाना पी चिदंबरम को खत लिख कर रघुराम राजन कमेटी की रिपोर्ट की बुनियाद पर बिहार को खुसूसि रियासत के दर्जे की तर्ज पर खुसूसि मदद जारी करने की दरख्वास्त की है। खत में वज़ीरे आला ने छह हफ्ताह के अंदर बिहार के बारे में फैसला लेने की दरख्वास्त की है। वज़ीरे आला ने कहा कि रिपोर्ट के मुताबिक, ‘लीस्ट डेवलपड स्टेट’ (सबसे कम तरक़्क़ी रियासत) और ‘खुसूसि रियासत का दर्जा हासिल रियासत’ में कोई फर्क नहीं है।

वज़ीरे खज़ाना को अपने कमिटमेंट की याद दिलाते हुए उन्होंने कहा कि मर्कज़ स्पोंसर मंसूबों में लीस्ट डेवलपड स्टेट और खुसूसि रियासत का दर्जा हासिल रियासतों में मर्कज़ और रियासतों की बराबरी हिस्सेदारी होनी है। ऐसे में रिपोर्ट की बुनियाद पर बिहार के हिस्से की इजाफ़ी रकम फौरन जारी की जाये। खुसूसि रियासत का दर्जा हासिल रियासतों में जिस तरह सरमायाकारों को टैक्स में छूट दी जा रही है, उसी तरह की छूट बिहार में सरमायाकारों को भी दी जानी चाहिए। यह सब आपके हक़ में है और ऐसा किया जा सकता है।

तजावीज़ की याद दिलायी

वज़ीरे आला ने वज़ीरे खज़ाना को 26 सितंबर को रघुराम राजन कमेटी की रिपोर्ट जारी करने के दिन की याद दिलाते हुए कहा कि आपने कहा था कि आपके तजवीज मुङो इसे आगे बढ़ाने में सहूलियत होंगे। अच्छा होता अगर फी सख्स आमदनी, फी सख्स बिजली खपत, बैंकों के साख-जमा रिसीओ समेत दीगर मेयार को भी कंपोजिट डेवलपमेंट इंडेक्स में शामिल कर बिहार की रेटिंग की जाती। इस दिन के अपने प्रेस कॉन्फ्रेंस की याद दिलाते हुए वज़ीरे आला ने कहा कि हमने रिपोर्ट का इस्तकबाल किया है। रिपोर्ट में मर्कज़ से रियासतों को तक़सीम मदद रकम के अलोट को लेकर क्लियर स्टैंड कहा गया है।

TOPPOPULARRECENT