Friday , December 15 2017

बिहार पहुंचा मानसून, मंगल से पूरे सूबे में होगी बारिश

बिहार में जुमा को मानसून ने दस्तक दे दी। पांच दिन विलंब से मानसून सीमांचल के अररिया और किशनगंज पहुंचा। इन दोनों जिलों में मानसून पूरी तरह पहुंच गया है। कटिहार, पूर्णिया, सुपौल जिले में भी मानसून ने दस्तक दे दी है। मंगलवार तक मानसून पूरे बिहार में आ जाएगा। मानसून मध्यम है। पांच से छह दिनों तक राज्य में मध्यम बारिश होते रहने के आसार हैं।

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक एके सेन के मुताबिक मंगलवार तक समूचे बिहार में मानसून की बारिश होने लगेगी। पटना में मानसून मंगलवार को पहुंचेगा। इस बार राज्य में सामान्य बारिश होने का अनुमान है।

मौसम विभाग ने बिहार में मानसून की बारिश को लेकर जो प्रारंभिक पूर्वानुमान लगाया था उसमें बिहार में 96 फीसदी बारिश की बात कही गई थी। शुक्रवार को मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक एके सेन ने बताया कि 92 फीसदी बारिश होने का अनुमान है। कहा कि 92 फीसदी बारिश सामान्य मानी जाएगी।

दिल्ली ब्यूरो के मुताबिक मानसून अरब सागर की तरफ से कमजोर है। मानसून जब बंगाल की खाड़ी में आगे बढ़ता है, तो वह दो हिस्सों में बंट जाता है। एक हिस्सा बंगाल की खाड़ी से आगे बढ़ता है और दूसरा, अरब सागर की तरफ से। इस बार अरब सागर की तरफ से मानसून रफ्तार नहीं पकड़ पा रहा है। नतीजा यह है कि महाराष्ट्र में मुंबई तक में मानसून की दस्तक नहीं हुई है, जबकि वहां मानसून के पहुंचने की सामान्य तिथि 10 जून है। उधर, गुजरात की तरफ भी मानसून नहीं बढ़ पा रहा है, जबकि बंगाल की खाड़ी की तरफ से मानसून कुछ दिनों से सक्रिय हो रहा है। बिहार में दस्तक देने के बाद मानसून का अगला पड़ाव पूर्वी उत्तर प्रदेश होगा।

इस बार अच्छी मानसूनी बारिश की संभावना व्यक्त की गई है। लेकिन पहले पखवारे में (15 जून तक) देश में सामान्य से 25 फीसदी कम बारिश हुई है। पिछले एक सप्ताह में 29 फीसदी कम बारिश हुई है। 61 मिमी के मुकाबले अब तक 46 मिमी बारिश ही हो पाई है।

TOPPOPULARRECENT