Saturday , December 16 2017

बिहार: बाढ़ की वजह से हो रहा सोनापुर रोड का कटाव, प्रशासन को सूचित करने के बावजूद नहीं हो रही कार्रवाई, अबतक 8 लोगों की मौत

तियरपाडा: भारी बारिश होने व नेपाल के जल अधिग्रहण क्षेत्र से पानी छोड़े जाने के कारण पुर्णियां जिले की अधिकांश नदियां बाढ़ की चपेट में हैं। जिसमें प्रमाण नदी का पानी उफान पर है जिस वजह से अमौर प्रखण्ड के तियरपाडा पंचायत में सोनापुर रोड भी प्रमाण नदी के पानी के चपेट में आ गया है, मास्टर मोहसिन साहब से बात चीत के दौरान पता चला कि अगर अगले 24 घंटे में मौसम की स्तिथि ऐसी रही तो सोनापुर रोड कट जायेगा और इनसे तीन परखंड 15 पंचायत समेत लगभग 50 हज़ार लोग प्रभावित होंगे और सैंकड़ों एकड़ फसल बाढ़ की नज़र हो जायेगा.

bihar2

पंचायत के पूर्व मुखिया तनवीर अंसारी के बेटे नवाज़ अंसारी से बातचीत के दौरान पता चला कि यह इलाक़ा मुस्लिम बाहुल्य है और गाँव वालों ने इस स्तिथि से प्रशासन को लगभग 10 दिन पहले आवगत कराया बावजूद इसके अभीतक कोई उचित कार्रवाई नहीं हुई जिस कारण गाँव वाले भयभीत हैं, आपको बतादें कि पुल से 500 मीटर की दूरी पर एक स्कूल भी है अगर पुल कटता है तो सबसे पहले स्कूल प्रभावित होगा.

मास्टर तौफीक़ अंसारी ने सियासत के स्थानीय संवादाता को बताया कि वे कुछ गाँव वालों के साथ इस प्रस्थिति के संबंध में उत्पादएवं मद्य निषेध मंत्री अब्दुल जलील मस्तान साहब से जा कर मिले उन्होंने बताया कि वे SDO को प्रस्थिति का जायज़ा लेने केलिए तियरपाडा भेजेंगे.

baisi

उल्लेखनीय है कि कोसी और सीमांचल के जिलों में बाढ़ की स्थिति विकराल होती जा रही है। बाढ़ में अबतक आठ लोगों के बहने की खबर है, जिनमें दो लड़कियां हैं। सबसे अधिक पांच की जान पूर्णिया में गई। यहीं ढाई लाख से अधिक की आबादी बाढ़ से घिरी हुई है।

पूर्णिया जिले के बायसी अनुमंडल में बाढ़ की स्थिति और विकट हो गई है। बायसी अनुमंडल के तीन प्रखंड बायसी, अमौर एवं बैसा सर्वाधिक प्रभावित हैं। तीन प्रखंडों के करीब दो लाख की आबादी बाढ़ में फंसी है। जिले में अबतक पांच लोगों की जान जाने की सूचना है। अमौर के फरसाडेंगा गांव में बाढ़ से कट रही सड़क देखने गई आठ साल की बच्ची ताइनात पैर फिसलने के कारण गिर कर बह गई जबकि बायसी प्रखंड के मीनापुर गांव में पानी में डूबने से एक 12 वर्षीया किशोरी की मौत हो गई है।

 

TOPPOPULARRECENT