Monday , December 18 2017

बिहार में उर्दू से मुताल्लिक ओहदे पर होगी बंपर बहाली

पटना : रियासत में उर्दू से मुताल्लिक ओहदे पर बंपर बहाली होगी। थाना, ब्लाक, जिला से लेकर हेड क्वार्टर के तमाम महकमा में भी उर्दू से मुताल्लिक ओहदे पर बहाली होगी। रियासती हुकूमत की ख्वाहिश है कि उर्दू डैरेक्टोरेट को मजबूत किया जाएगा। पीर को काबिना सेक्रेटरीयेट महकमा की जायजा बैठक में वज़ीरे आला नीतीश कुमार ने हिदायत दिए। इससे रियासत के उर्दू जुबान के मुफाद में इन तमाम दफ्तरों में उर्दू में आने वाले दरख्वास्त का निबटारा आसान हो सकेगा।

ओहदे तशकील कर तक़र्रुरी

उर्दू डैरेक्टोरेट को मजबूत करने के लिए जरूरत के मुताबिक नायब डैरेक्टर, सरकारी जुबान के ओहदेदार, उर्दू ट्रांसलेटर, एसिस्टेंट व दीगर ओहदे तशकील होंगे। इनके अलावा सेक्रेट्रीएट के तमाम महकमा, डिविजनल दफ्तर, डीसी दफ्तर, ब्लाक शरीक सीओ ऑफिस , डीआईजी, एसपी, एसडीपीओ, थाना, रजिस्ट्री दफ्तर व जिला तालीम दफ्तरों में उर्दू ट्रांसलेटर, टाइपराइटर व कम्प्यूटर ऑपरेटर की तक़र्रुरी जरूरत के मुताबिक की जाएगी।

वज़ीरे आला ने कहा कि सरकारी दस्तुरुल अमल, व नोटिफिकेशन के अलावा अवाम के लिये ज़रूरत तमाम सरकारी आर्डर को भी उर्दू में ट्रांसलेट कर जारी किया जाए। सरकारी इश्तिहार को उर्दू में भी शाया कराया जाए। उर्दू डैरेक्टोरेट में काम कर रहे मुलाजिम के लिए सर्विस दस्तुरुल अमल बनाई जाए ताकि इनके प्रोमोशन का रास्ता आसान हो सके। उर्दू के प्रचार-प्रचार व तरक्की के लिए अकलियत बोहुद महकमा के प्रिंसिपल सेक्रेटरी, फाइनेंस महकमा के प्रिंसिपल सेक्रेटरी, काबिना के प्रिंसिपल सेक्रेटरी, उर्दू डायरेक्टोरेट के डायरेक्टर की एक कमेटी तशकील की जाएगी। यह कमेटी उर्दू के प्रचार-प्रसार व तरक्की के लिए सरकार को सुझाव देगी।

TOPPOPULARRECENT