Monday , December 18 2017

बिहार में दलित छात्र के साथ मार पीट और जान से मारने की धमकी का वीडियो वायरल

पटना: बिहार के वैशाली जिले के जंदाहा का रहने वाला पीड़ित छात्र, मुजफ्फरपुर के केंद्रीय विद्यालय के क्लासरूम में उक्त छात्र की बेरहमी से पिटाई का वीडियो वायरल होने और जान से मारने की धमकी के मामले में नाना राजेन्द्र चौधरी द्वारा रविवार शाम को दूसरी एफआईआर एससी-एसटी थाने में दर्ज की गई है.
पीड़ित दलित छात्र उत्तम कुमार (12 वीं कक्षा) में पढता था,एफआईआर में पांच छात्र को नामजद करते हुए स्कूल प्रशासन और शिक्षकों की भी मिलीभगत का आरोप लगाया है. एससी-एसटी थाना अध्यक्ष बबन बैठा ने कहा कि पांच छात्र के अलावा जिन की भूमिका सामने आएगी, सभी पर कार्रवाई होगी.

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

नेशनल दस्तक के अनुसार, एफआईआर दर्ज होने के बाद काजी मुहम्मदपुर की पुलिस ने दो मुख्य आरोपी छात्रों को थाने लेकर आई है और उनसे कड़ी पूछताछ की जा रही है. वहीं सोमवार को केंद्रीय विद्यालय संगठन के एडिशनल कमिश्नर यूएन खवाड़े मामले की जांच करने दिल्ली से पहुंचेंगे. एफआईआर दर्ज करने में आना-कानी की सूचना पर विभिन्न दलों के वरिष्ठ दलित नेता रविवार की रात एससी-एसटी थाने पहुंचे. दोषियों की अविलंब गिरफ्तारी नहीं होने की स्थिति में दलित नेताओं ने आंदोलन की चेतावनी दी है.
एफआईआर में कहा गया है कि जाति सूचक शब्द का इस्तेमाल करते हुए क्लास में आगे बैठने को लेकर पहले से ही दबंग छात्र धमकाते थे. पीड़ित छात्र के नाना राजेंद्र चौधरी के अनुसार उनके नाती के साथ मारपीट करने वाले लड़कों ने धमकी देते हुए कहा था कि एससी-एसटी होकर शिक्षक का प्यारा बनेगा. यह हम बर्दाश्त नहीं कर सकते. उन्होंने कहा कि इतना ही नहीं वे नाती को धमकी देते थे कि जब हमारे पापा 136 मर्डर कर सकते हैं तो हम पांच-छह तो कर ही सकते हैं. नाती की हत्या कर लाश गायब करने की भी धमकी दी जाती थी.

उन्होंने बताया कि 25 अगस्त की सुबह 9 बजे क्लासरूम में नाती को बेरहमी से पीटने के बाद उसका वीडियो वायरल होने से मेरा नाती काफी सदमे में है. पुलिस के पास मामला ले जाने पर परिवार समेत हत्या करने की भी धमकी दी गई है. केंद्रीय विद्यालय गन्नीपुर ने पिटाई करने वाले दो छात्रों को निष्कासित कर दिया गया. अभिभावकों की आपात बैठक में आम सहमति होने के बाद स्कूल प्रबंधन ने दोनों आरोपियों को टीसी दे दी है. इस मामले में सात छात्रों की संलिप्तता सामने आई है. वीडियो में सात छात्रों का चेहरा स्पष्ट दिखा रहा है.

TOPPOPULARRECENT