Tuesday , December 19 2017

बिहार में नकल रोकना सरकार के बूते से बाहर

सूबे में कई सेंटर पर मैट्रिक इम्तिहान के दौरान खुलेआम नकल पर रियासती हुकूमत ने अपना पल्ला झाड़ लिया है। जुमेरात को तालीम वज़ीर पीके शाही ने महकमा में मुनक्कीद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कुबूल किया कि मैट्रिक इम्तिहान के दौरान कई सेंटर

सूबे में कई सेंटर पर मैट्रिक इम्तिहान के दौरान खुलेआम नकल पर रियासती हुकूमत ने अपना पल्ला झाड़ लिया है। जुमेरात को तालीम वज़ीर पीके शाही ने महकमा में मुनक्कीद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कुबूल किया कि मैट्रिक इम्तिहान के दौरान कई सेंटर में नकल हो रही है। लेकिन, इस पर रोक लगाने से उन्होंने हाथ खड़े कर दिये। उन्होंने कहा कि अकेले सरकार इम्तिहान में नकल नहीं रोक सकती है। इसके लिए सामाजिक जिम्मेदारी भी होनी चाहिए।

इस पर सहाफ़ियों के मुसलसल सवालों पर भड़के तालीम वज़ीर ने कहा कि बिहार मुल्क से अलग है क्या? कौन-से राज्य में और कौन-सी इम्तिहान में नकल नहीं हो रही है? मैट्रिक इम्तिहान में नकल हो रही है, यह हमारे लिए शर्मिदगी की बात है, तो इम्तिहान देनेवाले और गार्जियन के लिए भी शर्मिदगी की बात है। उन्होंने कहा कि इस बार मैट्रिक की इम्तिहान में 14 लाख तालिबे इल्म इम्तिहान दे रहे हैं। उनके गार्जियन और रिश्तेदार तीन से चार हो जाएं, तो सेंटर पर लोगों की तादाद 60 से 70 लाख तक पहुंच जाती है। ऐसी सुरते हाल में 100 फीसद नकल से आज़ाद इम्तिहान का इनकाद करना अकेले सरकार के बलबूते की बात नहीं है। इसमें समाज को भी आगे आना होगा।

तालीम वज़ीर ने कहा कि बिहार स्कूल इम्तिहान समिति और जिला इंतेजामिया की तरफ से नकल से आज़ाद इम्तिहान की निजाम की गयी है, लेकिन कुछ सेंटरों पर नकल की तसवीरें भी रही हैं। इससे साफ होता है कि बच्चों के गार्जियन, रिश्तेदार नकल करने मे उनकी मदद कर रहे हैं। तालीम वज़ीर ने कहा कि गार्जियन अपने बच्चों के मुश्तकबिल के बारे में ज्यादा सोचें। मैट्रिक इम्तिहान ही ज़िंदगी की आखरी इम्तिहान नहीं होती है। जब गार्जियन तय कर चुके हैं कि नकल कराना है, तो इसे रोकना अकेले हुकूमत के लिए चैलेंज है। इसमें लोगों की मदद जरूरी है।

डीएम-एसपी को कड़ी कार्रवाई की हिदायत

तालीम वज़ीर ने यह भी कहा कि नकल की खबर और तसवीर को देखते हुए रियासती हुकूमत संगीन हुई है। चीफ़ सेक्रेटरी अंजनी कुमार सिंह और डीजीपी पीके ठाकुर के जरिये से जिन जिलों में नक़ल की वारदात हुई हैं, वहां के डीएम और एसपी को कड़ी कार्रवाई का हिदायत दिया है। इम्तिहान के लिए इम्तिहान समिति समेत दीगर जो लोग इसमें मदद कर रहे हैं, उन्हें सख्त कदम उठाने की हिदायत दिया गया है।

TOPPOPULARRECENT