Wednesday , April 25 2018

बिहार में नसबंदी कर महिलाओं को जमीन पर लिटाया, जांच के आदेश

बिहार के समस्तीपुर के खानपुर प्रखंड स्थित पीएचसी में सोमवार को नसबंदी  के बाद महिलाओं को जमीन पर ही लिटा दिया गया. यह अक्सर देखा गया है कि स्वास्थ्य उप केंद्र में प्रबंधन द्वारा ऐसी लापरवाही बरती जाती है.

प्राथमिक उप स्वस्थ्य केंद्र खानपुर में करीब 10 महिलाओं की नसबंदी की गई. बंध्याकरण के बाद महिलाओं को अस्पताल में बेड पर लिटाने के बजाय फर्श पर ही लिटा दिया गया. अस्पताल परिसर में बने भवन के नीच फर्श पर लेटा देने को लेकर महिलाओं के परिजनों में काफी रोष है. परिजनों का आरोप है कि नसबंदी के बाद महिलाओं को अस्पताल प्रबंधन की ओर से मिलने वाली सुविधाएं नहीं दी जा रही है.

नसबंदी फैमिली प्लानिंग के तहत लक्ष्य पूरा करने के नाम पर भारी लापरवाही बरती जाती है. विभागीय स्तर पर मरीजों  के जान के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है. पीएचसी में संसाधनों का अभाव होने के बाद भी नसबंदी की गई. आप इन तस्वीरों में साफ देख सकते है कि किस तरह से नसबंदी के बाद महिलाएं फर्श पर लेटी है और पानी चढ़ रहा है. यहीं नही जब फर्श पर लेटी महिला मरीजों खबर बनने के बाद उन्हें आननफानन में छुट्टी कर दी गई. यही नहीं खानपुर के पीएचसी प्रभारी प्रमोद कुमार अपने कक्ष में ताला लगा कर फरार हो गये. हमने जब उनका पक्ष जाने की कोशिश की कि आखिर किस परिस्थिति में नसबंदी के बाद महिला मरीजों को फर्श पर लिटाया गया तो उनके नम्बर पर कई बार कॉल करने पर भी रिसीव नहीं हुआ.

इस गंभीर मसले को डीडीसी वरुण कुमार मिश्रा को जब आजतक ने संज्ञान में दिया और नसबंदी के बाद फर्श पर लेटी मरीजों की तस्वीरें दिखाई तो उन्होंने इसे गंभीरता से लेते हुए तुरन्त पत्र के माध्यम से सीएस से जांच कर दोषी के विरुद्ध कार्रवाई करने का निर्देश दिया.

TOPPOPULARRECENT