Monday , December 18 2017

बिहार में राष्ट्रपति शासन लगाने की लोकसभा में मांग रामविलास बोले यही सही वक्त

नयी दिल्ली : बिहार के गया में जदयू की खातुन एमएलए के बेटे की तरफ से एक नौजवान को कथित तौर से गोली मारने की वाकिया की गूंज आज लोकसभा में सुनाई दी और कई सदस्यों ने रियासत में कानून और निजाम की हालत बेहद खराब होने का जिक्र करते हुए रियासत में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की.

लोकसभा में शून्यकाल के दौरान भाजपा के जनार्दन सिंह सिग्रीवाल ने इस मुद्दे को उठाते हुए कहा कि बिहार में कानून और निजाम की हालत बेहद खराब हो गयी है. गया में हुकुमत महागंठबंधन के घटक जदयू की एक खातुन एमएलए के बेटे ने सिर्फ सड़क पर रास्ता नहीं देने की वजह से एक स्टुडेंट को गोली मार दी. आज रियासत में अपराधियों का बोलबाला हो गया है.

सिग्रीवाल ने कहा कि यह कोई अकेली वाकिया नहीं है, बल्कि रियासत में लूटपाट, जुर्म, हिंसा, अपहरण का बोलबाला हो गया है. पुलिस की कोई नहीं सुन रहा है. लोग परेशान है, शासन निजाम ध्वस्त हो गया है. रियासत में बढ़ते जुर्म को देखते हुए रियासत की अवाम की दिक्कत के निवारण के लिए वहां एक केंद्रीय टीम भेजी जाए और राष्ट्रपति शासन लगाया जाए.

पप्पू यादव ने कहा कि बिहार में वजीरे आला के गृह जिले नालंदा में एक आठ साल के बच्चे का अपहरण किया गया और फिर उसकी कत्ल कर दी गयी. गया में जदयू की एक खातुन विधायक के बेटे ने एक स्टुडेंट को सड़क पर रास्ता नहीं देने पर गोली मार दी. सहरसा जिले में चार दिन में कत्ल के चार बड़े मामले सामने आये हैं.

उन्होंने इल्जाम लगाया कि सत्तारुढ महागठबंधन ने बिहार में माफिया, शराब के कारोबारियों और अपराधियों के रिश्तेदारों को पैसे लेकर टिकट देने का काम किया है. रियासत में जुर्म का बोलबाला हो गया है. केंद्र सरकार को इसमें मुदाखिलत करना चाहिए.

बिहार में जंगलराज और गुंडाराज कायम हो गया है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार इस मामले में मुदाखिलत करे और इस सरकार को बर्खास्त किया जाये. रामविलास पासवान ने भी कहा कि बिहार में सदर हुकुमत का यही सही वक्त है.

TOPPOPULARRECENT