Monday , December 18 2017

बिहार में शराबबंदी के बाद क्या ड्रग माफियाओं के लिए बड़ा बाजार बनता जा रहा है?

पटना। बिहार में पूर्ण शराबबंदी है. उत्पाद विभाग के नये कानून के तहत बिहार में शराब बेचना, पीना और इसकी सप्लाइ करना पूरी तरह कठोर दंडनीय अपराध है। शराबबंदी कानून के लागू होने के बाद किसी ने सोचा नहीं था कि बिहार उड़ता पंजाब की राह पर चल पड़ेगा।

जी हां, लेकिन हुआ कुछ ऐसा ही. बिहार अब ड्रग माफियाओं के लिए बड़े मार्केट में तब्दील हो गया है। जहां नशे की तलाश में लोग नये-नये विकल्प तलाश रहे हैं।

बिहार में ऐसा पहले कभी नहीं हुआ कि इतनी भारी मात्र में चरस, गांजा, हेरोइन और सांप के जहर की बरामदगी हुई हो। अब ऐसा होने लगा है। प्रशासन और नॉरकोटिक्स विभाग सकते में है, आखिर यह हो क्या रहा है। बिहार में ऐसे पदार्थों की तस्करी एका-एक कैसे बढ़ गयी।

TOPPOPULARRECENT