Sunday , November 19 2017
Home / Bihar News / बिहार में 2.50 करोड़ बच्चों का आधार कार्ड बनाने की अमल शुरू

बिहार में 2.50 करोड़ बच्चों का आधार कार्ड बनाने की अमल शुरू

पटना : रियासत के प्राइमरी से लेकर प्लस टू स्कूल के करीब 2.50 करोड़ तालिबा इल्म के आधार कार्ड बनाने की अमल शुरू हो गयी है। इसके लिए तमाम जिलों में अगल-अलग एजेंसियों का सलेक्शन किया गया है और उन्हें तीन महीनों में मुतल्लिक़ जिले के स्कूलों के सभी बच्चों को आधार कार्ड बनवा देना है। आधार कार्ड के साथ-साथ तमाम स्कूली बच्चों का बैंक एकाउंट भी खुल रहा है।

आधार कार्ड के लिए सभी जिलों में दरख्वास्त खत भेज दिया गया है। इसमें बच्चों को यह फॉर्म भरना है। उस फॉर्म को मुतल्लिक़ स्कूल के प्रिन्सिपल अटेस्टेड कर देंगे। उसे ही आधार मान कर एजेंसी बच्चों का आधार कार्ड बनायेगी। बच्चों को अलग से रिहाईसी सर्टिफिकेट, गार्जियन का कोई शिनाख्त कार्ड समेत दीगर जानकारी लाने की जरूरत नहीं होगी। इसके बाद एजेंसी उस स्कूल में बायोमेट्रिक मशीन ले जायेगी और बच्चों के हाथों व आंखों का डिजिटल स्टोर करेगी।

अगर नजदीक में ही स्कूल होंगे तो एक ही स्कूल में दोनों स्कूलों के तालिबे इल्म आधार कार्ड बनेगा। इसके बाद मुतल्लिक़ स्कूलों में ही बच्चों का आधार कार्ड बन कर आयेगा। बच्चों का आधार कार्ड बनाने के साथ-साथ उनका बैंक एकाउंट भी खुलवाया जा रहा है और आधार कार्ड बन जाने के बाद उसे बैंक एकाउंट से लिंक कर दिया जायेगा। इसके बाद आगे स्कॉलर्शिप की जो आधी रकम मिलनी है और उसके अलावा अगले साल से जो रकम मिलेगी वह बच्चों को कैश नहीं बल्कि उनके एकाउंट में ही ट्रांसफर कर दिया जायेगा। तमाम जिलों में आधार कार्ड बनाने की अमल शुरू हो गयी है। तीन महीने में यह अमल पूरी हो जायेगी। जिन बच्चों का पहले से आधार कार्ड बना हुआ है उनका नहीं बनेगा। उन्हें एक दरख्वास्त लिख कर स्कूल को देना होगा कि उनका आधार कार्ड बना हुआ है।

आधार कार्ड बनने के बाद तमाम बच्चों के आधार नंबर को उनके बैंक एकाउंट से जोड़ दिया जायेगा, ताकि मुस्तकबिल में पोशाक, स्कॉलर्शिप, साइकिल, हौसला अफजाई समेत सेनेटरी नैपकिन की रकम सीधे अकाउंट में दे दिया जायेगा।
आर. एस. सिंह, बीइपी शरीक नोडल अफसर, आधार कार्ड

 

TOPPOPULARRECENT