बिहार: मोहर्रम को लेकर सरकार ने 12 जिलों को बेहद संवेदनशील घोषित किया!

बिहार: मोहर्रम को लेकर सरकार ने 12 जिलों को बेहद संवेदनशील घोषित किया!

राज्य की कानून व्यवस्था को लेकर मुख्य सचिव दीपक कुमार की अध्यक्षता में हुई बैठक में मुहर्रम के दौरान डीजे पर पाबंदी लगाने का फैसला लिया गया है।

तीन घंटे तक चली मैराथन बैठक में मुहर्रम और दशहरे को लेकर सभी जिले के एसपी को अलर्ट पर रहने के लिए निर्देश दिया गया है। इस बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी जिले के जिलाधिकारी और एसपी शामिल हुए।

बैठक में मुहर्रम के दौरान बिना लाइसेंस जुलूस निकालने पर भी पाबंदी लगा दी गई है. मुख्य सचिव के साथ चली इस लंबी बैठक में दशहरा और मुहर्रम को लेकर 12 जिलों को संवेदनशील घोषित किया गया है और साथ ही सभी जिलों को अलर्ट पर रखा गया है। बैठक के निर्णय की जानकारी गृह सचिव आमिर सुभानी ने दी।

बिहार में खराब लॉ एंड ऑर्डर को लेकर हाल ही में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हाई लेवल मीटिंग की थी। बैठक में नीतीश कुमार ने बढ़ते अपराध को लेकर अधिकारियों पर काफी नाराज हुए। मुख्यमंत्री आवास पर हुई बैठक करीब 6 घंटे तक चली. जिसमें सीएम ने सभी अधिकारियों पर नाराजगी जताई।

लॉ एंड ऑडर्र पर हुए मीटिंग में मुख्य सचिव, गृह सचिव और डीजीपी भी मौजूद थे। मीटिंग में नीतीश कुमार ने सभी अधिकारियों से नाराजगी के साथ कहा कि, ‘लॉ एंड ऑडर्र से किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अगर हालत नहीं सुधारी गई तो इसके जिम्मेदार वह खुद होंगे।

नीतीश कुमार ने कहा कि बढ़ते अपराध को अगर नहीं रोका गया तो इससे जो हालत खराब होगी उसकी जिम्मेदारी अधिकारियों को ही लेना होगा। सीएम ने अधिकारियों से साफ कहा था कि उनपर लगाम कसें और सख्त कार्रवाई करें। इसमें किसी तरह की लापरवाही को वह बर्दाश्त नहीं करेंगे।

Top Stories